नई दिल्ली, महिलाओं के वर्क प्लेस पर होने वाले यौन शोषण के खिलाफ चले MeToo मूवमेंट में तमाम मामले सामने आए. इससे महिलाओं का हौसला काफी बढ़ा और वह खुलकर सामने आईं. एक्ट्रेस कल्क‍ि कोचलिन का कहना है कि अभी जितना मीडिया में दिखाया गया है, ये इससे बहुत ज्यादा है.

कल्क‍ि ने कॉस्मोपॉलिटन इंडिया को दिए इंटरव्यू में कहा- ये महिला के सशक्तीकारण का समय है. MeToo हॉलीवुड में एक साल से चल रहा है. किसी ने नहीं सोचा था कि ये अचानक हमारे यहां शुरू हो जाएगा. यहां तक कि मैंने भी नहीं सोचा था. हमने इसका रिजल्ट देखा है. लोग इस्तीफे दे रहे है. वर्कप्लेस की छानबीन हो रही है, नए नियम बनाए जा रहे है. इस सबसे महिलाओं का हौसला काफी बढ़ा है.
बता दें कि कुछ साल पहले कल्क‍ि ने अपनी मीटू स्टोरी जाहिर की थी. उन्होंने बताया था कि बचपन में उनका यौन शोषण हुआ था. कल्क‍ि ने कहा है- यह एक लड़ाई थी, जो मुझे लोगों से लड़नी पड़ी. जो मीडिया में दिखाया गया है, ये उससे कई गुना ज्यादा है. मैं इन्स‍िया दरीवाला और कम्युनिटी ऑफ चाइल्ड एब्यूज के साथ काम कर रही हूं. हम सब की लड़ाई बहुत कठिन है. हमें लड़ना होगा, नहीं तो ये सिस्टम कभी नहीं बदलेगा.

कैसे शुरू हुआ #MeToo

तनुश्री ने नाना पाटेकर पर फिल्म ''हॉर्न ओके प्लीज'' की शूटिंग के दौरान छेड़छाड़ का आरोप लगाया था. उन्होंने 2008 में एक फिल्म 'हॉर्न ओके प्लीज' की शूटिंग के दौरान नाना पर अपने साथ जोर जबरदस्ती की कोशिश का आरोप लगाया. उन्होंने कहा था, 'नाना पाटेकर जबरन करीब आना चाहते थे, वो शूटिंग के दौरान गाने का हिस्‍सा नहीं थे, बावजूद उन्‍होंने उनके साथ इंटीमेट होने की कोशिश की.' ये बयान सामने आने के बाद एक के बाद एक महिलाएं अपनी MeToo स्टोरी जाहिर करने सामने आईं. नाना के अलावा साजिद खान, आलोक नाथ, विवेक अग्न‍िहोत्री, कैलाश खेर, पीयूष मिश्रा आदि पर आरोप लगे.