बारामूलाः जहां एक तरफ पूरा देश जोश और धूमधाम से दीपावली का त्योहार मना रहे है, वहीं हमारे देश के वीर जवान कठिन परिस्थितियों के बावजूद घर परिवार से दूर ऊंची पहाड़ियों पर देश की सीमाओं को दुश्मनों से सुरक्षित रखने के लिए इस महा उत्सव के दिन भी हाथों में बन्दूक लिए सुरक्षा में लगे हुए हैं. लेकिन इन जवानों से बात करने पर जरा भी यह एहसास नहीं होता कि इन्हें इस त्योहार पर घर से दूर रहने का दुख है. ये शान से कहते हैं कि इन्हें गर्व है कि हम पर देश सुरक्षा का जिम्मा है. 

सीमा पर तैनात सिपाही अनुज कुमार का कहना है “ देश धूमधाम से दीपावली मनाये इसलिए हमने मोर्चा संभाला है और जब तक जान है तब तक देश पर कोई आंच नहीं आने देंगे. देश को दीपावली की शुभकामनाएं” हवलदार राजवीर सिंह ने कहा, “देश में में सुख शांति बनी रहे और हम देश की रक्षा हर हाल में कर सकें यही हमारी मनोकामना है” 
ऐसा नहीं कि यह लोग दीपावली नहीं मानते, इन जवानों ने अपनी यूनिट को अपना परिवार बना लिया है. शिफ्ट में सीमा की ड्यूटी के बाद, इस दिन पूजा पाठ का भी पूरा बंदोबस्त रहता है. यूनिट में बने मंदिर को शानदार तरीके से सजाया जाता है, भजन कीर्तन होता है. देश, देशवासियों और अपने परिवार की खुशी के लिए प्रार्थना की जाती हैं, मिठाइयां बंटती हैं, दीप जलते हैं.

इन्स्पेक्टर बी.डी.शर्मा ने कहा, “हमारे परिवार को नहीं समझना नहीं चाहिए कि हम दूर हैं, उन्हें गर्व करना चाहिए कि हम देश की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी निभाते हैं. यूनिट का हर साथी हमारा परिवार है” सिपाही विक्रम कहते हैं “हम सब एक साथ मिलकर यह त्योहार मानते हैं. हम यहां पर हैं तो देश के लोग यह महसूस करते हैं कि वो सुरक्षित है. इस बात का हमें गर्व है” 

इस मौके पर भारत की जय-जयकार के नारों के साथ साथ देश प्रेम के गानों के साथ धूम धड़का भी दिखा. यहां कहीं पर भी यह महसूस नहीं हुआ कि यह लोग घर से दूर हैं, हर जवान के चहरे पर मुस्कान और देश प्रेम ही दिखा.