नई दिल्ली : 13,400 करोड़ रुपए के घोटाले के आरोपी नीरव मोदी के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय ने एक बार फिर से बड़ी कार्रवाई की है. दुबई में उसकी कुल 11 संपत्तियों को जब्त किया गया है. ईडी ने ये कार्रवाई नीरव मोदी और उसकी कंपनी फायरस्टार के खिलाफ की है. जब्त की गई संपत्ति की कुल कीमत 70.79 लाख डॉलर (करीब 56.8 करोड़ रुपए) है. ईडी ने ये कार्रवाई पीएमएलए के अंतर्गत की.

इससे पहले भी ईडी ने पीएनबी स्कैम के मुख्य आरोपी नीरव मोदी को झटका दिया था. ED ने नीरव मोदी की हांगकांग में 255 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर ली थी. इस दौरान प्रवर्तन निदेशालय ने पांच विदेशी खातों को जब्त किया था, इन खातों में नीरव के 278 करोड़ रुपये जमा थे. इसके अलावा नीरव मोदी की ज्वेलरी और मुंबई के घर को भी सीज किया गया.

13400 करोड़ के घोटाले का आरोप
आपको बता दें कि हीरा कारोबारी नीरव मोदी पर 13400 करोड़ रुपए के पीएनबी घोटाले का आरोप है. हाल ही में नीरव मोदी के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद भी करोड़ों के जेवरात हॉन्ग-कॉन्ग भेजे गए थे. इस मामले में कार्रवाई करते हुए ईडी ने 637 करोड़ रुपए की चल-अचल संपत्ति अटैच की है. ईडी के मुताबिक पीएनबी घोटाले में अब तक कुल अटैचमेंट 4,744 करोड़ रुपये की हुई है.

भाई और पत्नी के खिलाफ भी मामला दर्ज
ईडी ने पिछले दिनों कार्रवाई के दौरान हॉन्ग-कॉन्ग से 22 करोड 69 लाख की ज्वेलरी वापस मंगाई है. इस ज्वेलरी को भी ईडी ने सीज कर दिया है. ज्वेलरी की कीमत को कागजों में 85 करोड़ रुपये दिखाया गया था. नीरव मोदी ने यह अचल संपत्तियां साल 2017 में खरीदी थी. सीबीआई ने इस महाघोटाले में नीरव मोदी, उनके भाई, उनकी पत्नी और कारोबारी भागीदार के खिलाफ मामला दर्ज किया है.