नई दिल्लीः दिल्ली पुलिस ने राजौरी गार्डन के विशाल इंक्लेव की एक बिल्डिंग की बेसमैंट में आधी रात को छापा मारकर 100 से ज्यादा लोगों को गैंबलिंग एक्ट में गिरफ्तार किया है. छापा मारने गई पुलिस टीम ने जब बेसमैंट के अंदर की तस्वीर देखी तो पुलिस के होश फाख्ता हो गए. जहां, अबसे कुछ देर पहले तक एक गैंबलिंग पार्टी चल रही थी. लेकिन, अब यहां रेड के बाद पुलिस की मौजूदगी है. इस बेसमेंट में दीवाली के मौके खासतौर पर ये गैंबलिंग पार्टी रखी गई थी. इस गैंबलिंग पार्टी का आयोजन किया था प्रशांत विहार इलाके के एक घोषित अपराधी बिजेंद्र गोयल ने. गैंबलिंग पार्टी में आने के लिए बाकायदा एंट्री फीस भी रखी गयी थी.

दरअसल, धनतेरस की रात इस गैंबलिंग पार्टी के लिए राजौरी थाने से महज 20 कदम की दूरी पर इमारत का ये बेसमेंट किराए पर लिया गया था. लेकिन, मंगलवार सुबह पुलिस को इस रैकेट की जानकारी मिली, जिसके बाद बिना वक़्त जाया किये पुलिस ने बिल्डिंग की बेसमेंट में रेड कर दी.
पश्चिमी दिल्ली की डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने ज़ी न्यूज़ को बताया कि 'दिवाली के मद्देनजर हम लोग जुए और पटाख़ों की बिक्री पर नज़र रख. रहे थे उसी दौरान पुलिस को सूचना मिली की जुआ खिलवाया जा रहा था, लिहाजा पुलिस टीम ने रेड की और करीब 100 लोगों को गिरफ्तार किया है. मौके से 22 लाख रुपए कैश और एक करोड़ सत्तासी लाख रुपए के टोकन मिले है'
दरअसल रात भर इस बेसमेंट में ताश के पत्तो पर लाखों रुपये की बाजियां लगाई जा रही थी.  गैंबलिंग पार्टी में एंट्री करने के बाद पहले कैश के बदले उतनी ही कीमत की इन टोकन को खरीदा जाता था और फिर उन टोकन  के जरिये लोग ताश के पत्तो से जुआ खेल रहे थे.

आरोपी बिजेंद्र गोयल हर रोज इस तरह की गैंबलिंग पार्टी अलग-अलग जगहों पर ऑर्गेनाइज करता था, लेकिन दीवाली के मौके पर खास तौर से ये गैंबलिंग पार्टी रखी गयी थी, जिसमे शराब, हुक्के से लेकर खाने-पीने और डांस तक का इंतजाम था. पुलिस ने इस गैंबलिंग पार्टी से 22 लाख रुपये कैश, 1 करोड़ 87 लाख रुपये की कीमत के टोकन और 112 लोगों को गिरफ्तार किया है. साथ ही, अब पुलिस इस इमारत के मालिक की तलाश कर रही है.