छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव की सरगर्मी के बीच नक्सलियों ने मंगलवार को दो बड़ी घटनाओं को अंजाम दिया है. मुखबिरी की सूचना में नक्सलियों ने गंगालूर इलाके में एक ग्रामीण की बेरहमी से हत्या कर दी है, तो वहीं भोपालपट्टनम थाना क्षेत्र में नक्सलियों ने चुनाव का बहिष्कार करते हुए पर्चे फेंके है. चुनाव के नजदीक आते ही नक्सली बौखलाहट में अपनी मौजूदगी दर्ज कराने ऐसे वारदातों को अंजाम दे रहे है.

पहले किया अगवा फिर की हत्या

छत्तीसगढ़ के बीजापुर इलाके में नक्सलियों ने एक ग्रामीण की निर्मम हत्या कर दी है. नक्सलियों ने ग्रामीण पर मुखबिर होने का आरोप लगाया है. मिली जानकारी के अनुसार रविवार शाम नक्सलियों ने गंगालूर के बद्देपारा गांव से दो ग्रामीणों का अपहरण किया. मंगलावर सुबह अगवा किए दो ग्रामीणों में से एक की नक्सलियों ने हत्या की दी. मृत ग्रामीण का नाम आयतु हेमला बताया जा रहा है. धारदार हथियार से हमला कर ग्रामीण की नक्सलियों ने हत्या की है. हत्या कर शव को गंगालूर के नज़दीक फेंक दिया गया है. शव के पास नक्सलियों ने पर्चे भी फेंके जिसमे ग्रामीण को पुलिस का मुखबिर नक्सलियों ने बताया है. पूरे घटना की पुष्टी SP मोहित गर्ग ने की है.

नक्सलियों ने लिखे चुनाव विरोधी नारे 


बीजापुर जिले के भोपालपटनम थाना क्षेत्र के उल्लूर इलाके नक्सलियों ने मंगलवार सुबह पर्चे फेंके. बताया जा रहा है कि ये पर्चे दणकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी फेंके है. पर्ची में नक्सलियों ने विधानसभा चुनाव के बहिष्कार का आम जनता से अपील किया है. वोट मांगने आने वाले राजनीतिक दल के लोगों को मार भगाने का किया भी ज़िक्र पर्चे में है. नक्सलियों ने दीवारों पर नारे भी लिखे है और प्रत्याशियों के पर्चों पर लाल निशान लगा दिया है.