लखनऊ: टी-20 को हमेशा बल्लेबाजों के अनुकूल प्रारूप माना जाता है, लेकिन एक स्थानीय क्यूरेटर के अनुसार भारत और वेस्टइंडीज के बीच मंगलवार (6 नवंबर) को यहां होने वाले दूसरे टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच के कम स्कोर वाला होने की उम्मीद है. लखनऊ में 24 साल के लंबे इंतजार के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी हो रही है जहां नवनिर्मित इकाना स्टेडियम पहली बार अंतरराष्ट्रीय मैच की मेजबानी करेगा. एक स्थानीय क्यूरेटर के अनुसार पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम के लिए 130 से अधिक का स्कोर विजयी स्कोर साबित हो सकता है.

पिच क्यूरेटर ने बताया, ''निश्चित तौर पर यह बड़े स्कोर वाला मैच नहीं होगा. पिच के दोनों तरफ लंबी सूखी घास है और बीच में पिच टूटी हुई है. यह धीमे उछाल वाली पिच है और शुरुआत से ही स्पिनरों के बड़ी भूमिका निभाने की उम्मीद है.'' उन्होंने कहा, ''इस पिच को ओड़िशा के बालंगीर से मिट्टी लाकर बनाया गया है जो अपनी धीमी प्रकृती के लिए जानी जाती है. दोनों टीमों को रन बनाने और लंबी स्क्वायर बाउंड्री के कारण बड़े शॉट खेलने में दिक्कत होगी.'' 

यहां शुरुआत से ही पिच तैयारी करने का प्रभार बीसीसीआई के मुख्य क्यूरेटकर दलजीत सिंह को सौंपा गया है और उन्होंने रवींद्र चौहान, शिव कुमार और सुरेंद्र जैसे यूपीसीए के क्यूरेटर की मदद से पिच तैयार की है. पिच पर काम करने वाले एक अन्य क्यूरेटर ने कहा कि अगर पिच तैयार करने के लिए स्थानीय मिट्टी का इस्तेमाल किया जाता तो मंगलवार को यहां काफी रन बनते. सतह के अलावा ओस के कारण भी परेशानी हो सकती है.

स्थानीय क्यूरेटर ने कहा, ''आउटफील्ड शानदार और तेज है लेकिन ओस निश्चित तौर पर बड़ी भूमिका निभाएगी. उत्तर भारत में सर्दियां शुरू हो रही हैं और पहली गेंद से ही ओस बड़ी भूमिका निभाएगी. इसलिए गेंद तेजी से बाउंड्री की ओर नहीं जाएगी और बल्लेबाजों को काफी रन दौड़ने होंगे.'' 

लगातार दूसरी जीत के साथ सीरीज अपने नाम करना चाहेगा भारत
नवाबों के शहर लखनऊ में जब भारतीय टीम वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टी-20 मैच के लिए उतरेगी, तब उसका लक्ष्य न सिर्फ इस मैच को जीतना होगा, बल्कि सीरीज को अपने नाम करना भी होगा. दोनों टीमों के बीच तीन टी-20 मैचों की सीरीज का दूसरा मैच एकाना इंटरनेशनल स्टेडियम में खेला जाएगा. यह स्टेडियम में खेले जाने वाला पहला अंतर्राष्ट्रीय मैच होगा. भारतीय टीम अगर इस सीरीज को भी जीत लेती है, तो वेस्टइंडीज के खिलाफ यह उसकी तीसरी सीरीज जीत होगी. इससे पहले भारत ने टेस्ट सीरीज में 2-0 और वनडे सीरीज में 3-1 से जीत हासिल की है. 

वेस्टइंडीज का लक्ष्य इस मैच में अपनी साख बचाने का होगा. वह अगले दोनों मैचों को अपने नाम कर सीरीज जीतने के साथ अपने आत्मसम्मान की रक्षा की कोशिश करेगी. कोलकाता के ईडन गार्डन्स में रविवार को खेले गए पहले टी-20 मैच में पांच विकेट से जीत हासिल की. 

भारतीय टीम ने भले ही जीत हासिल की हो, लेकिन उसे भी अपनी बल्लेबाजी को मजबूत करना होगा. इसमें पहले मैच में अहम योगदान देने में असफल रहे रोहित, शिखर धवन, लोकेश राहुल और ऋषभ पंत के अलावा मनीष पांडे को भी अधिक मेहनत करने की जरूरत है. मेजबान और मेहमान टीम के गेंदबाज अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभा रहे हैं, लेकिन रोमांचक मुकाबले के लिए दोनों टीमों के बल्लेबाजों को कमाल दिखाने की जरूरत है. 

 

टीमें : 

भारतीय टीम : रोहित शर्मा (उपकप्तान), शिखर धवन, लोकेश, राहुल, मनीष पांडे, दिनेश कार्तिक, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, क्रुणाल पांड्या, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह और खलील अहमद.

वेस्टइंडीज : कार्लोस ब्रेथवेट (कप्तान), फैबियान एलीन, डेरेन ब्रावो, शिमरोन हेटमेर, इविन लुइस, ओबेड मैक्कॉय, एश्ले नर्स, कीमो पॉल, खैरी पिएरे, कीरन पोलार्ड, रोवमैन पॉवेल, दिनेश रामदीन (विकेटकीपर), आंद्रे रसेल, शेरफेन रथरफोर्ड, ओशाने थॉमस.