राम मंदिर निर्माण को लेकर अपने आमरण अनशन से चर्चा में आए अयोध्या के संत परमहंस ने एक बार फिर बड़ा ऐलान किया है. संत ने चेतावनी भरे अंदाज में कहा है कि अगर 5 दिसंबर तक राम मंदिर निर्माण को लेकर कानून नहीं बनता या फिर मंदिर निर्माण शुरू नहीं हो जाता तो वह 6 दिसंबर को आत्मदाह कर लेंगे.

संत परमहंस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या न आने को लेकर भी कटाक्ष किया. साथ ही पीएम मोदी से 5 दिसंबर तक राम मंदिर निर्माण के लिए कानून बनाने का आह्वान भी किया. उन्होंने चेतावनी भरी धमकी भी दे दी कि अगर 5 दिसंबर तक वह ऐसा नहीं करते तो वह अगले दिन यानी 6 दिसंबर को आत्मदाह कर लेंगे.

उन्होंने कहा कि पहले भी उन्होंने आत्मदाह करने की बात कही थी लेकिन कोई तारीख तय नहीं की थी. उन्हें उम्मीद थी कि सरकार इस संबंध में पहल करेगी और राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त होगा. लेकिन सरकार ने ऐसा नहीं किया. इसकी बजाए वह अयोध्या में दिया जलाकर या अन्य कार्य कर लुभावने कार्य कर रही है.

माना जा रहा है कि संत परमहंस की धमकी बीजेपी के मुसीबत बढ़ाएगी. राम मंदिर को लेकर उनके ऊपर दबाव और बढ़ेगा क्योंकि 7 दिन की आमरण अनशन में लाख कोशिशों के बाद भी बीजेपी और उससे जुड़े समर्थित नेता परमहंस को आमरण अनशन तोड़ने के लिए मना नहीं पाए थे. आखिरकार प्रवीण तोगड़िया के आने के ठीक पहले पुलिस और प्रशासनिक टीम ने संत परमहंस को जबरन उठाया और लखनऊ ले जाकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात भी कराई थी.