कोलकाता: वनडे सीरीज में शानदार प्रदर्शन करने वाली भारतीय टीम रविवार (4 नवंबर) से वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू हो रही तीन टी-20 मैचों की सीरीज में उतर रही है. भारत के लिए यह टी-20 सीरीज किसी भी लिहाज से आसान नहीं होने वाली क्योंकि बेशक विंडीज ने टेस्ट और वनडे में दोयम दर्जे का प्रदर्शन किया हो, लेकिन टी-20 में यह टीम बिल्कुल अलग और खतरनाक है क्योंकि यह मौजूदा टी-20 विश्व चैम्पियन है. वेस्टइंडीज की टी-20 टीम में खेल के सबसे छोटे प्रारुप के कई दिग्गज नाम है जो किसी भी जगह, किसी भी टीम के खिलाफ अकेले ही मैच का रूख बदल सकते हैं. कीरोन पोलार्ड, आंद्रे रसेल, कप्तान कार्लोस ब्रेथवेट और इविन लुइस विंडीज की मौजूदा टी-20 टीम का हिस्सा है. पोलार्ड और रसेल आईपीएल में अपना जलवा दिखाते आ रहे हैं.

वहीं, टीम इंडिया अपने सबसे बड़े सितारों कप्तान विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी के बिना उतरेगी.  विराट कोहली को रेस्ट दिया गया है, इसलिए उनकी गैरमौजूदगी में रोहित शर्मा टीम इंडिया की कप्तानी संभालेंगे. 

टीम इंडिया का मुकाबला मौजूदा टी-20 चैंपियन के साथ
इस टी-20 सीरीज में भारत को एक बात याद रखनी होगी कि उसका सामना मौजूदा विश्व विजेता से है. यह टीम टी-20 की बादशाह कही जाती है. भारत बेशक अपने घर में खेल रहा है, लेकिन विंडीज ने भारत में ही विश्व कप का खिताब जीता था और सेमीफाइनल में भारत को ही मात दी थी. 
बिना विराट कोहली के उतर रही है टीम इंडिया
मेजबान टीम इस सीरीज में अपने नियमित कप्तान और मौजूदा दौर के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में शुमार विराट कोहली के बिना उतर रही है. विराट को आगामी आस्ट्रेलिया दौरे को देखते हुए आराम दिया गया है. ऐसे में टीम की कप्तानी रोहित शर्मा करेंगे. रोहित की कप्तानी में ही भारत ने हाल ही में एशिया कप पर कब्जा जमाया था. 

धोनी भी टी-20 टीम से बाहर 
विराट कोहली के न होने से रोहित पर दोहरी जिम्मेदारी है. वहीं कप्तान में भी एक तरह से उनका बोझ बढ़ा है क्योंकि महेंद्र सिंह धोनी को टी-20 टीम से बाहर कर दिया गया है. धोनी भारत के सबसे सफल कप्तानों में शुमार हैं और वह हर मैच में मौजूदा कप्तानों को राय देते रहते हैं तथा कई मौकों पर आगे आकर जिम्मेदारी भी लेते हैं. धोनी के न रहने से रोहित के पास एक अनुभवी खिलाड़ी की कमी होगी. 
धवन-राहुल को निभानी होगी अहम भूमिका
बल्लेबाजी में रोहित के अलावा शिखर धवन, लोकेश राहुल को अहम रोल निभाना होगा. धवन का कप्तान के साथ सलामी बल्लेबाज के तौर पर आना तय माना जा रहा है. तीसरे नंबर पर कोहली की अनुपस्थिति में राहुल को मौका मिल सकता है. मध्यक्रम में श्रेयस अय्यर, मनीष, पांडे, दिनेश कार्तिक, ऋषभ पंत के विकल्प रोहित के पास हैं. 

भुवी-बुमराह पर होगी बड़ी जिम्मेदारी
गेंदबाजी में भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह पर काफी कुछ निर्भर करेगा. दोनों शुरुआती ओवरों में आएंगे. इन दोनों की कोशिश विंडीज के खतरनाक बल्लेबाजों को बड़े शॉट खेलने से रोकने तथा उन्हें आउट करने की होगी. 

हरफनमौला क्रुणाल पांड्या भी हैं टीम का हिस्सा
रोहित किस संयोजन के साथ जाते हैं यह मैच के दिन की पता चलेगा. क्रुणाल पांड्या के रूप में उनके पास एक हरफनमौला खिलाड़ी का अच्छा विकल्प है. वहीं स्पिन में रोहित के पास वॉशिंगटन सुंदर, शाहबाज नदीम, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल के विकल्प हैं. क्रुणाल भी बाएं हाथ के स्पिनर हैं. ऐसे में देखना होगा कि रोहित किन्हें मौका देते हैं. 
दिग्गजों के साथ उतरेगी विंडीज
वहीं, विंडीज की टीम बदली हुई और खतरनाक है. पोलार्ड, ब्राथवेट, लुइस के अलावा उसके पास शिमरोन हेटमायेर हैं जिन्होंने वनडे में बल्ले से शानदार प्रदर्शन किया था. इनके अलावा रौवमन पावेल, दिनेश रामदीन भी टीम को मजबूती देंगे. ब्रेथवेट और रसेल बल्लेबाजी के अलावा गेंदबाजी में भी टीम के अहम हथियार हैं. इसमें उनके साथ कीमो पॉल भी हैं. स्पिन में एश्ले नर्स पर भारतीय बल्लेबाजों को रोकने की जिम्मेदारी होगी. नर्स वनडे में ऐसा कर चुके हैं. 
भारतीय टीम : रोहित शर्मा (उपकप्तान), शिखर धवन, लोकेश, राहुल, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, दिनेश कार्तिक, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, वॉशिंगटन सुंदर, क्रुणाल पांड्या, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, उमेश यादव, शाहबाज नदीम और खलील अहमद.

वेस्टइंडीज : कार्लोस ब्रेथवेट (कप्तान), फाबियान एलान, डारेन ब्रावो, शिमरोन हेटमायर, इविन लुइस, ओबेड मैक्कोय, एश्ले नर्स, कीमो पॉल, खैरी पिएरे, कीरोन पोलार्ड, रोवमैन पावेल, दिनेश रामदीन (विकेटकीपर), आंद्रे रसेल, शेरफेन रथरफोर्ड, ओशाने थॉमस.