काबुल: अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी 2019 के चुनावों में इस पद के लिये एक बार फिर अपनी किस्मत आजमाएंगे. उनके कार्यालय की तरफ से शनिवार को यह जानकारी दी गई. 2014 के चुनावों में निर्वाचित हुए गनी के इन चुनावों में मतदाताओं के सामने जाकर खुद को ऐसे उम्मीदवार के तौर पर पेश करने की उम्मीद है जो युद्ध प्रभावित मतदाताओं को 17 सालों से चले आ रहे संघर्ष से निजात दिला सकता है.
अपने अधीनस्थों पर चिल्लाने और एकता सरकार का कामकाज बारीकी से देखने की छवि के तीक्ष्ण बुद्धिवाले 69 वर्षीय नेता अमेरिका के नेतृत्व में तालिबान के साथ शांति वार्ता के प्रयासों को अपनी उपलब्धि के तौर पर पेश कर सकते हैं.इस वार्ता के संभावित लक्षण दिखने लगे हैं. राष्ट्रपति के महल के प्रवक्ता शाह हुसैन मुर्ताजावी ने एएफपी को बताया, ‘‘मैं इस बात की पुष्टि कर सकता हूं कि राष्ट्रपति गनी अगले वर्ष फिर से चुनावों में खड़े होंगे.’’