नई दिल्ली, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आपत्तिजनक ट्वीट करने पर कांग्रेस की पूर्व सांसद और कांग्रेस सोशल मीडिया सेल की संयोजक दिव्या स्पंदना के खिलाफ राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर थाने में देशद्रोह का मामला दर्ज कराया गया है.
दिव्या के खिलाफ लखनऊ के वकील सैयद रिजवान अहमद ने मामला दर्ज कराया है. अहमद ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा, 'ट्वीट अपमानजनक था. प्रधानमंत्री भारत गणराज्य और इसकी संप्रभुता के प्रतिनिधि हैं. इसलिए यह (ट्वीट) राष्ट्र के लिए दुर्भाग्य है और अवमानना भी. हमने एक प्राथमिकी दर्ज कराई है.'

अहमद लखनऊ के विवेकखंड इलाके में रहते हैं. उनकी तहरीर पर मंगलवार को दिव्या के खिलाफ देशद्रोह और आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर मामले की जांच साइबर सेल को सौंप दी गई है. दिल्ली की दिव्या ने सोमवार दोपहर पीएम मोदी की फोटो पोस्ट करते हुए आपत्तिजनक ट्वीट किया था. उनकी इस पोस्ट पर कई लोगों ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी और उनकी आलोचना की थी. टि्वटर पर कई यूजर्स ने दिव्या को ट्रोल भी किया.
हालांकि यह पहला मौका नहीं है जब दिव्या ने पीएम मोदी के खिलाफ ऐसा ट्वीट किया. बीते मंगलवार को भी दिव्या ने पीएम मोदी का एक पुराना वीडियो शेयर करते हुए उनकी शिक्षा पर सवाल खड़ा किया था. तब टि्वटर यूजर्स ने दिव्या को ट्रोल करते हुए उनकी काफी खिंचाई की थी.

दरअसल दिव्या ने अपने ट्विटर अकाउंट पर पीएम का एक वीडियो शेयर किया जो पीएम मोदी के वर्ष 1998 में दिए इंटरव्यू का है. इसमें मोदी कह रहे हैं कि उन्होंने 17 साल की उम्र में अपना घर छोड़ दिया था और वो तब से आज तक भटक रहे हैं. इस वीडियो में वो यह कहते भी दिख रहे हैं कि उन्होंने हाई स्कूल तक पढ़ाई की है.

इस वीडियो को शेयर करते हुए दिव्या ने लिखा कि बहुत मुश्किल से वीडियो ढूंढा है जो कि 1998 का है. इसमें 'साहब' (पीएम मोदी) खुद कह रहे हैं कि उन्होंने हाई स्कूल तक पढ़ाई की है लेकिन आज वो कहते हैं कि उन्होंने 1979 में ग्रैजुएशन किया था और उनके पास इसकी डिग्री भी है.