नई द‍िल्‍ली। इस बार मानसून देश पर मेहरबान रहा और कुछ राज्यों में तो इतना ज्यादा कि बाढ़ तक आ गई। इन राज्यों ने अभी प्राकृतिक आपदा से राहत की सांस ली ही थी कि लौटते मानसून ने फिर कहर बरपाया है। देश के कई राज्यों में लगातार हो रही बारिश ने हाल बेहाल कर रखे हैं। हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश के चलते कई इलाकों का संपर्क टूट गया है वहीं ब्यास नदी ने रौद्र रूप धारण कर लिया है।

ब्यास नदी का रौद्र रूप शांत होने का नाम नहीं ले रहा है। नदी में पानी की आवक सात साल बाद एक लाख क्यूेसक का आंकड़ा पार कर गई है। कैचमेंट क्षेत्रों में हो रही मूसलाधार बारिश से ब्यास में पानी की आवक 1.10 लाख क्यूसेक तक पहुंच गई है। 2011 में यह आंकड़ा बरसात में 1.36 लाख क्यूसेक था। इस बार सितंबर के अंतिम सप्ताह में यह स्थिति है। पंडोह बांध से निचली तरफ 88,000 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है।

 

वहीं दूसरी तरफ केरल में भी मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी कर दिया है। खबरों के अनुसार मौसम विभाग ने 24 और 26 सितंबर के लिए यह अलर्ट जारी किया है। राज्य के उन्हीं जिलों के लिए यलो वार्निंग जारी की गई है, जहां भारी नुकसान हुआ था।

मौसम विभाग की इस चेतावनी ने राज्य के लोगों और पूरे देश को फिर से चिंता में डाल दिया है। इसके साथ ही केरल के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने जिले के सभी तंत्रों को अलर्ट पर रहने की चेतावनी जारी की है। आपदा प्रबंधन ने सभी विभागों से अलर्ट से निपटने के लिए जरूरी तैयारी रखने को कहा है।

 

मौसम विभाग ने 25 सितंबर के लिए इडुक्‍की, वयनाड, पत्तनमत्तिट्टा जिलों के ल‍िए पीला अलर्ट जारी क‍िया है। वहीं पालाक्काड, इडक्‍की और त्रिशूर ज‍िलों के लिए 26 स‍ितंबर को भी येलो अलर्ट जारी रहेंगे। इन इलाकों में तेज बार‍िश की संभावना है।

यहां मौसम व‍िभाग के अनुसार 64 मिलीमीटर से लेकर 124 म‍िलीमीटर बारिश हो सकती है। यह जानकारी केरल सीएमओ ने दी है।

 

इधर, रव‍िवार से हो रही तेज बार‍िश के कारण ह‍िमाचल प्रशासन ने राज्‍य के आठ जिलों में 24 स‍ितंबर को स्‍कूलों को बंद रखने का निर्णय लिया है। यह आठों जिले पहाड़ी क्षेत्र में आते हैं। कुल्‍लू, किन्‍नौर, चंबा, कांगरा, बिलासपुर, स‍िरमौर, मंडी और शिमला में तेज बारिश के कारण प्रशासन ने स्‍ कूल बंद रखने का न‍िर्णय लिया है।

तेज बार‍िश के कारण मंडी जिले में नदी का पानी हाइवे पर आ गया है। इस कारण आवागमन बाधित हो गया है। तेज बारिश ने आम जनजीवन को परेशान कर द‍िया है। क ुल्‍लू के ड‍िप्‍टी कमिश्‍नर युनूस खान ने बताया क‍ि लोगों के पुनर्वास के ल‍िए हम लगातार प्रयास कर रहे हैं। हम लोगों से नदी के पास ना जाने की अपील कर रहे हैं।

 

तेज बार‍िश के कारण नदी का जलस्‍तर बढ़ गया है और बाढ़ जैसे हालात हैं। बता दें क‍ि सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें यात्रियों की एक बस को नदी में आए बाढ़ में बहते देखा गया था। इन इलाकों में राहत का काम तेज चल रहा है। आर्मी ने अब तक कुल्‍लू में 19 लोगों को एयरल‍िफट किया गया है।