प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को छत्तीसगढ़ के जांजगीर में आमसभा को संबोधित करेंगे. 19 सितंबर को बिलासपुर में प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसियों पर हुए लाठीचार्ज के विरोध में कांग्रेसी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को काला झंडा दिखाने की तैयारी में हैंं. इसके लिए सभा स्थल को चारों ओर से कांग्रेस घेरने की कोशिश करेंगे. कांग्रेसियों के इस प्रदर्शन की तैयारी को देखते हुए पुलिस भी मुस्तैद है. आमसभा स्थल से काफी दूर ही कांग्रेसियों को गिरफ्तार करने की तैयारी चल रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश कांग्रेस कमेटी के चीफ भूपेश बघेल, नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव और कांग्रेस घोषणा पत्र प्रभारी चरण दास महंत सभा स्थल पहुंचने की कोशिश करेंगे. टीएस सिंहदेव बिलासपुर से अकलतरा होते हुए निकलेंगे. भूपेश बलौदाबाजार से निकल चुके हैं. काले कपड़े और काली गाड़ी में काले झंडे ​लगाकर निकले भूपेश का ​काफिले के पीछे पुलिस भी रवाना हुई है. इसके अलावा हर जिले से कांग्रेसी कार्यकर्ता सभा स्थल पहुंचकर पीएम नरेन्द्र मोदी के विरोध की कोशिश कर रहे हैं.
सुरक्षा के मद्देनजर बलौदाबाजार में पचास कांग्रेस कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया है. सभी को भाटापारा शहर थाना लाया गया है. मुंगेली में भी जांजगीर जा रहे 40 कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया है. सभी को जरहगांव थाने लाया गया है. पुलिस ने कांग्रेसियों से काले झंडे भी बरामद किए है.

प्रशासनिक तैयारियों के अनुसार प्रदेश कांग्रेस के आला नेताओं को सभा स्थल तो दूर जांजगीर चांपा जिले में ही प्रवेश करने के पहले रोकने की तैयारी है. पीसीसी चीफ भूपेश बघेल को बलौदा बाज़ार के आसपास. जबकि सिंहदेव को बिलासपुर या अकलतरा के आसपास रोका जाएगा और उनकी गिरफ्तारी की जा सकती है. महंत खुद चांपा में हैं. ऐसे में उन्हें घर से निकलते ही गिरफ्तार किया जा सकता है. कांग्रेसियों पर हुए लाठीचार्ज के विरोध में राजीव भवन रायपुर में प्रधानमंत्री के विरोध में कांग्रेस के कार्यकर्ता जाने की तैयारी कर रहे हैं. कांग्रेस के कार्यकर्ता काले कपड़े पहनकर विरोध करने को तैयार हैं.