इंडियन नेवी के बेहतरीन नाविक में शुमार कमांडर अभिलाष टॉमी हिंद महासागर के सुदूर इलाके में फंस गए हैं. वे गोल्डन ग्लोब रेस में हिस्सा ले रहे थे. खराब मौसम की वजह से उनकी याट क्षतिग्रस्त हो गई है. उनकी पीठ में काफी चोट लगी है. ताजा अपडेट के मुताबिक, वे सुरक्षित हैं और उनका ट्रैकर अभी काम कर रहा है. वे रेस्क्यू किए जाने का इंतजार कर रहे हैं. 
एएनआई के मुताबिक, इंडियन नेवी ने कहा है कि रेस्क्यू मिशन के लिए आईएनएस सतपुरा को भेजा गया है. बताया जाता है कि ऑस्ट्रेलिया के पर्थ शहर से करीब 3 हजार किमी की दूरी पर अभिलाष फंसे हुए हैं
ऑस्ट्रेलिया की डिफेंस फोर्स की ओर से भी रेस्क्यू मिशन शुरू किया गया है. 39 साल के अभिलाष भारत के बेहतरीन नाविकों में से एक माने जाते हैं. कई अवॉर्ड भी उन्होंने जीता है. वे अकेले ही अपनी याट में हैं. गोल्डन ग्लोब रेस फ्रांस से 1 जुलाई को शुरू हुआ था. इसमें 18 नाविक हिस्सा ले रहे हैं. 
ऑस्ट्रेलिया की मैरिटाइम सेफ्टी ऑथोरिटी रेस्क्यू मिशन को-ऑर्डिनेट कर रही है. देर रात अभिलाष ने खुद के घायल होने के बारे में मैसेज भेजा था. इसके बाद कोड रेड अलर्ट जारी किया गया है.
एक रिपोर्ट के मुताबिक, उन तक पहुंचने में एक से अधिक दिन का भी वक्त लग सकता है. उन्होंने आखिरी मैसेज में कहा- 'ROLLED. DISMASTED. SEVERE BACK INJURY. CANNOT GET UP.'