नई दिल्ली: भारत, चीन और ब्रिटेन में जबरदस्त बिक्री के बल पर चीनी स्मार्टफोन निर्माता वनप्लस साल 2018 की दूसरी तिमाही में दुनिया भर के शीर्ष पांच प्रीमियम एंड्रॉयड ऑरिजिनल इक्विपमेंट मैनुफैक्चर्स (ओईएम्स) में शामिल हो गई. हॉन्गकॉन्ग की काउंटरप्वाइंट रिसर्च के 'मार्केट मॉनिटर क्यू2 2018' रिपोर्ट में यह बात कही गई है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि 2018 की दूसरी तिमाही में वनप्लस 400 डॉलर से 600 डॉलर खंड में सबसे तेजी बढ़ता ब्रांड रहा, जबकि इस अवधि में वैश्विक प्रीमियम स्मार्टफोन खंड के बाजार में सात फीसदी की तेजी दर्ज की गई, जबकि स्मार्टफोन के कुल बाजार में 1 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई. 
 

भारत में एप्पल और सैमसंग पिछड़े
प्रीमियम खंड में 400 डॉलर से अधिक मूल्य के डिवाइस को रखा जाता है, जिसकी वैश्विक स्मार्टफोन बाजार में 20 फीसदी हिस्सेदारी है. मार्केट रिसर्च फर्म ने एक बयान में कहा, "भारत में, इसने (वनप्लस ने) एप्पल और सैमसंग को पछाड़ दिया. प्रीमियम स्मार्टफोन बाजार में इसकी हिस्सेदारी 40 फीसदी रही. 

दुनिया भर में OEMs हैं
इसके साथ ही यह फ्रांस, जर्मनी, इटली, नीदरलैंड्स, स्वीडन और ब्रिटेन में शीर्ष पांच प्रीमियम स्मार्टफोन में शामिल रहा, जिसमें वनप्लस 6 की शुरुआती बिक्री का प्रमुख योगदान रहा" दुनिया भर में प्रीमियम स्मार्टफोन खंड में करीब 40 ओईम हैं, जिसमें से शीर्ष पांच कंपनियों की करीब 88 फीसदी बिक्री होती है. 

तीन कंपनियों की बाजार हिस्सेदारी 88 फीसदी
रिपोर्ट के मुताबिक, इस साल प्रीमियम सेगमेंट में हुवावेई पी20, वीवो X21, ओप्पो फाइंड एक्स, नोकिया और एलजी वी30 जैसे स्मार्टफोन भी शामिल हैं. प्रीमियम स्मार्टफोन ब्रांड की सूची में- सैमसंग, वनप्लस और एप्पल की बाजार हिस्सेदारी 88 फीसदी है. प्रीमियम स्मार्टफोन की बिक्री के मामले में भी वनप्लस 6, सैमसंग गैलेक्सी एस 9 प्लस और वनप्लस 5T के बाद दूसरे नंबर पर काबिज है.