आबकारी वृत्त रायसेन एवं ओबेदुल्लागंज में अलग अलग स्थानों पर संयुक्त अमले ने अलग अलग कार्यवाहियों में दबिश देकर अवैध शराब विक्रय के कुल 05 प्रकरण बनाये गए। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर अवैध मदिरा धारण,परिवहन, चौर्यनयन एवं विक्रय के विरुद्ध चलाए जा रहे सघन तलाशी अभियान के तारतम्य में श्रीमती प्रिया मिश्रा कलेक्टर रायसेन के निर्देश पर व चंद्र प्रकाश साँवले जिला आबकारी अधिकारी रायसेन के मार्गदर्शन मे दिनांक 20-09-2018 को प्रातः भोपाल सागर हाईवे में दो बोरियों में कुल 330 क्वार्टर देशी मदिरा मसाला ले जा रहे आरोपी पूरण उर्फ टेरेस अहिरवार आ. मुन्नालाल निवासी वार्ड नं11 पटेल नगर रायसेन को धर दबोचा गया जो पूर्व में भी अवैध शराब के व्यवसाय में संलिप्त रहा है । आरोपी पूरण अहिरवार को मध्यप्रदेश आबकारी अधिनियम धारा 34(2) के अपराध में गिरफ़्तार किया गया जिसके लिए माननीय न्यायालय सी जे एम रायसेन से प्राप्त ज्यूडिशियल रिमांड पर जेल भिजवाने की कार्यवाही की गई।

इसी तरह वृत्त ओबेदुल्लागंज क्षेत्र के ग्राम सर्रई में कार्यवाही कर खेतों व मैदान में बडे बडे 15 पॉलीथिन में महुआ लाहन जमीन में गड़े हुए, जिनमें लगभग 50-50 किलो महुआ लाहन मौके पर नष्ट किये गये व कुल 750 किलो महुआ लाहन का अज्ञात प्रकरण कायम कर आरोपी की तलाशी जारी है।

पश्चात जैथर में माखन सिंह के रहवासी मकान में 10 लीटर हाथभट्टी कच्ची मदिरा व 25 किलो महुआ लाहन बरामद कर 34(1) का प्रकरण कायम किया। 

संदीप सिंह के रहवासी मकान से 1 लीटर कच्ची मदिरा व 10 किलो महुआ लाहन बरामद हुआ। 

अर्जुन नगर में पुष्पा बाई w/o नारायण सिंह के रहवासी मकान से 3 लीटर हाथभट्टी मदिरा व 15 किलो महुआ लाहन जप्त किया गया । 
इस तरह दिनाँक 20/09/2018 की संयुक्त अमले की कार्यवाही में आबकारी वृत्त ओबेदुल्लागंज अंतर्गत आबकारीअधिनियम 1915 की विभिन्न धाराओं मे कुल 05 प्रकरणों में 330 क्वार्टर देशी मदिरा मसाला सहित 14 लीटर कच्ची मदिरा व लगभग 800 किलो महुआ लाहन बरामद किया गया हैं|
उक्त कार्यवाही सहायक जिला आबकारी अधिकारीद्वय श्री एम एम चैतगुरु एवं श्री विनोद सल्लम वृत्त उपनिरीक्षक विवेक त्रिपाठी ,उपनिरीक्षक पूजा वर्मा, उपनिरीक्षक सरद मिश्र के नेतृत्व में परि. उप निरीक्षक शैलेन्द्र भील एवं परि. उपनिरीक्षक मुकेश श्रीवास्तव सहित जिला आबकारी दल के मुख्य आरक्षक महेंद्र गौर, आरक्षक संतोष मर्सकोले, आरक्षक मनोज विश्वकर्मा, आरक्षक माजिद खान ने सहयोग किया।