नई दिल्ली, पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम के कायराना हमले में बीएसएफ जवान की मौत और शव के साथ बर्बरता करने के मामले पर भारत सख्त कार्रवाई करने की तैयारी में है. वहीं सूत्रों के मताबिक, जवान पर हमला करने से एक दिन पहले बीएसएफ ने इलाके में पाकिस्तान का हेलिकॉप्टर देखा था. वहीं PAK रेंजर्स अब भी इस घटना को मानने से इनकार कर रहे हैं. पाकिस्तान के रेंजर्स भारत के ऊपर आरोप लगा रहे हैं.

हालांकि, खुफिया एजेंसियों ने बीएसएफ को इस बात का अलर्ट भी दिया था कि इंटरनेशनल बॉर्डर के उस पार पाकिस्तान रेंजर्स की ड्रेस में कुछ संदिग्ध मूवमेंट दिखाई दे रहा है.

दोनों देशों के SOP के मुताबिक, बीएसएफ ने सरकंडा काटने से पहले उस इलाके के पाक रेंजर के कमांडर को सूचना दी थी. ताकि कोई वहां से गलतफहमी में पाक गोली न चला दे. बीएसएफ़ सूत्रों के मुताबिक जवान का हथियार अभी तक नहीं मिला है.

बता दें कि पाकिस्तान की बैट टीम ने बीएसएफ जवान की हत्या कर उसके शव के साथ बर्बरता की है. शहीद जवान का पार्थिव शव जब उनके गांव पहुंचा तो लोगों में गुस्सा साफ दिखा. पूरे राजकीय सम्मान के साथ उन्हें विदाई दी गई.

जम्मू के आरएस पुरा सेक्टर से मंगलवार को सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) से गायब हुए बीएसएफ जवान नरेंद्र कुमार का शव मिला था. इस मामले में बीएसएफ के सूत्रों ने कई खुलासे किए हैं. पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम के जवानों ने जम्मू कश्मीर के रामगढ़ सेक्टर में हमारे जांबाज़ नरेंद्र कुमार को न सिर्फ मारा बल्कि उनके शव के साथ भी बर्बरता की.