नई दिल्‍ली : देश में लगातार बढ़ रहीं पेट्रोल और डीजल की कीमतें दिनोंदिन रिकॉर्ड बना रही हैं. शुक्रवार को भी राजधानी दिल्‍ली समेत अन्‍य शहरों में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में इजाफा हुआ. शुक्रवार को दिल्‍ली में पेट्रोल 28 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी के साथ 81.28 लीटर प्रति लीटर पर पहुंच गया. वहीं डीजल में भी 22 पैसे की बढ़ोतरी दर्ज की गई. इससे डीजल के दाम शुक्रवार को बढ़कर 73.30 रुपये प्रति लीटर हो गए.
गुरुवार को यह था आंकड़ा
गुरुवार को दिल्‍ली में पेट्रोल के दामों में 13 पैसे बढ़े थे, जबकि डीजल के रेट में 11 पैसे की वृद्धि हुई थी. इस तरह राष्‍ट्रीय राजधानी में पेट्रोल और डीजल के दाम क्रमश: 81 रुपये प्रति लीटर और 73.08 रुपये प्रति लीटर हो गए थे. उधर, आर्थिक राजधानी मुंबई में भी पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़े थे और यहां भी पेट्रोल 88.39 रुपये प्रति लीटर (13 पैसे की बढ़ोतरी), जबकि डीजल 77.58 रुपये प्रति लीटर (11 पैसे की वृद्धि) हो गए थे.

मुंबई में 90 रुपये के करीब पहुंचे दाम
शुक्रवार को मुंबई में भी पेट्रोल के दामों में इजाफा जारी रहा. यहां शुक्रवार को पेट्रोल की कीमतों में 28 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई. इससे यहां पेट्रोल 88.67 रुपये प्रति लीटर हो गया. वहीं डीजल 24 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी के साथ शुक्रवार को 77.82 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया.

अभी और बढ़ने की आशंका
विशेषज्ञों का मानना है कि आने वाले वक्त में भारतीय बाजारों में पेट्रोल और डीजल की कीमतें अभी और आसमान छूने वाली हैं. पेट्रोल-डीजल की कीमतों में इजाफे के पीछे रुपया एक बड़ा कारण है. रुपये में गिरावट के चलते ही तेल कंपनियां लगातार कीमतों में बदलाव कर रही हैं. दरअसल, कंपनियां डॉलर में तेल का भुगतान करती हैं, जिसकी वजह उन्हें अपना मार्जिन पूरा करने के लिए तेल की कीमतों को बढ़ाना पड़ रहा है.

यह है कंपनियों का तर्क
पेट्रोलियम कंपनियों के अनुसार केंद्र या राज्य के कर तथा डीलर के कमीशन को अलग कर पेट्रोल का रिफाइनरी गेट पर दाम 40.45 रुपये लीटर पड़ता है. डीजल के मामले में यह 44.28 रुपये लीटर है. पेट्रोल और डीजल की कीमतें केंद्र द्वारा लिए जाने वाले उत्पाद शुल्क, पेट्रोल पंप डीलरों को दिए जाने वाले कमीशन तथा राज्य सरकारों द्वारा वसूले जाने वाले वैट को जोड़ने के बाद ऊंची बैठती हैं. पेट्रोल पर डीलर का कमीशन फिलहाल 3.34 रुपये लीटर तथा डीजल पर 2.52 रुपये लीटर है.