नई दिल्ली।मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में आगामी चुनाव को देखते हुए कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) आपसी सीटों के बंटवारे पर काम कर रही है। पूरे मामले से वाकिफ कांग्रेस के एक सीनियर नेता ने बताया कि बीएसपी मध्य प्रदेश में 50 जबकि छत्तीसगढ़ में 15 सीट की मांग कर रही है।

कांग्रेस मध्य प्रदेश में बीएसपी को 20 से 22 सीट जबकि छत्तीसगढ़ में 7 सीट देना चाह रही है। लेकिन वह सीट शेयरिंग को लेकर काफी उत्सुक है ताकि पिछले 15 साल से दोनों राज्यों में सत्ता में बनी भारतीय जनता पार्टी को उखाड़कर फेंका जा सके।

मध्य प्रदेश में दलित कुल आबादी का करीब 15 फीसदी है और उनकी संख्या वहां पर 7 करोड़ 50 लाख है जबकि छत्तीसगढ़ में ये 11.6 फीसदी हैं यानि इनकी आबादी 2 करोड़ 6 लाख हैं। यही वजह है कि कांग्रेस इन दोनों राज्यों में बीएसपी की साथ आने को तैयार है।

बीएसपी ने मध्य प्रदेश के 2013 के चुनाव में 230 सीट में से 227 पर अपने प्रत्याशी उतारे थे। इनमें से चार पर पर उसे जीत मिली थी और उसका वोट शेयर 6.29 फीसदी रहा था। यह काफी अहम वोट शेयर है। जबकि, कांग्रेस 36.38 फीसदी वोट शेयर के साथ 58 सीटें जीती थी और बीजेपी 44.88 शेयर के साथ राज्य की 165 सीट पर जीत दर्ज की थी।

जबकि, छत्तीसगढ़ में बीएसपी ने 2013 के चुनाव में सभी 90 सीटों पर अपने प्रत्याशा खड़े किए थे और उसे महज एक सीट ही हाथ लगी थी। हालांकि, उसका वोट राज्य में वोट शेयर 4.27 फीसदी रहा था। जबकि कांग्रेस 43.33 वोट शेयर के साथ राज्य की 39 सीट जीती थी और बीजेपी 54.44 फीसदी वोट शेयर के साथ 49 सीटों पर जीतकर सत्ता में वापसी की थी।