जबलपुर। राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार एवं चंद्रेश खरे जिला न्यायाधीश के मार्गदर्शन में जिला न्यायालय जबलपुर एवं तहसील न्यायालय सिहोरा एवं पाटन के साथ साथ कुटुम्ब न्यायालय एवं श्रम न्यायालय मे आठ सितम्बर शनिवार को नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया है ।
    प्रकरणों के निराकरण के लिए जिला न्यायालय, कुटुम्ब न्यायालय, श्रम न्यायालय जबलपुर एवं तहसील न्यायालय सिहोरा तथा पाटन सहित कुल ४० न्यायिक खण्डपीठों का गठन किया गया है।
इस लोक अदालत मे सिविल प्रकरण, आपराधिक प्रकरण, धारा १३८ एन.आई.एक्ट के प्रकरण, मोटर दुर्घटना दावा से संबंधित प्रकरण, विद्युत अधिनियम, श्रम न्यायालय, कुटुम्ब न्यायालय मे लंबित प्रकरण तथा पारिवारिक प्रकरण, भू-अधिग्रहण प्रकरण, सर्विस मैटर, जल कर, बैंक रिकवरी के लंबित एवं प्रीलिटिगेशन प्रकरण तथा राजीनामा योग्य समस्त प्रकरणों का निराकरण किया जावेगा।
लोक अदालत में मुख्यमंत्री जनकल्याण संबल योजना में पंजीकृत श्रमिकों तथा म.प्र. भवन अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल के अंतर्गत पंजीकृत कर्मकारों के बिजली संबंधी मुकदमें भी निराकरण हेतु रखे जावेंगे।
ऐसे पक्षकार जिनके मामले किसी भी न्यायालय में विचाराधीन है, वे अपने मामले का निराकरण लोक अदालत के माध्यम से करा कर लाभ उठा सकते हैं। लोक अदालत में मामलों के निराकरण होने पर ऐसे मामलों में न्याय शुल्क के रूप में अदा की गई राशि पक्षकारों को वापस की जायेगी। पक्षकारों से आग्रह है कि नेशनल लोक अदालत मे अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होकर अपने प्रकरणों का निराकरण करा कर लोक अदालत का समुचित लाभ उठावें।