नॉटिंघम :  भारत और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा मैच शनिवार को नॉटिंघम के टेंटब्रिज मैदान पर शुरू होगा. इंग्लैंड से पहले दो टेस्ट मैच में मिली हार से  सीरीज में बैकफुट पर आई टीम इंडिया के लिए यह मैच वापसी के लिहाज से निर्णायक है. इस मैच में अगर इंग्लैंड की टीम जीतती है तो सीरीज उसके नाम होगी. भारत 2007 के बाद से इंग्लैंड में सीरीज नहीं जीत सका है. पहले दो मैचों में भारतीय बल्लेबाजी पूरी तरह से विफल रही और इसी लिहाज से तीसरे मैच में विराट कोहली अंतिम-11 में बदलाव कर कुछ नए चेहरों को जगह दे सकते हैं. 

अगर दोनों मैचों में दोनों टीमों के बल्लेबाजों का प्रदर्शन देखा जाए तो यह खास नहीं रहा है. हालांकि, दूसरे मैच में क्रिस वोक्स और जॉनी बेयरस्टो ने विकेट बड़ी साझेदारी कर इंग्लैंड को आगे कर दिया था और इन दोनों के बीच हुई साझेदारी इंग्लैंड की जीत का सबसे बड़ा कारण रही थी. 

बल्लेबाजों की नाकामी की वजह से होंगे कुछ बदलाव

भारतीय टीम की बल्लेबाजी पूरी तरह से विफल रही थी. पहले मैच में बेशक कोहली का बल्ला चला था, लेकिन दूसरे मैच में वह भी रन नहीं बना पाए. इस लिहाज से कुछ बदलाव तय माने जा रहे हैं जिनमें सबसे अहम विकेटकीपर-बल्लेबाज दिनेश कार्तिक के स्थान पर युवा खिलाड़ी ऋषभ पंत को मौका देना है. इस बात की संभावना है कि पंत तीसरे मैच में टेस्ट पदार्पण करें. 

विराट कोहली को दूसरे मैच में पीठ में दिक्कत हुई थी. वह चौथे दिन फील्डिंग करने भी नहीं उतरे थे और इसी दिन पीठ में दर्द के साथ ही उन्होंने बल्लेबाजी भी की थी. कोहली की चोट अगर ठीक नहीं हुई है तो यह भारत के लिए बहुत बड़ा झटका साबित हो सकती है क्योंकि वही एक ऐसे भारतीय बल्लेबाज हैं जिन्होंने इंग्लैंड की परिस्थिति में रन बनाने की काबिलियत दिखाई है. 

दूसरे मैच में कोहली ने शिखर धवन को बाहर कर लोकेश राहुल को टीम में चुना था, लेकिन राहुल और उनके सलामी जोड़ीदार मुरली विजय दोनों ही विफल साबित हुए थे. पिछले इंग्लैंड दौर पर रन करने वाले उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे भी दो मैचों में असफल रहे हैं. उनका फॉर्म में आना भी भारत के लिए बहुत जरूरी है.

कुलदीप को खिलाने का दाव पड़ा था उलटा

कोहली और कोच रवि शास्त्री ने दूसरे मैच में रविचंद्रन अश्विन के साथ कुलदीप यादव के रूप में दो स्पिनरों को टीम में जगह दी थी, लेकिन यह दांव उलटा पड़ा था. कोच शास्त्री ने भी इस बात को माना था. इसलिए तीसरे मैच में भारत अश्विन के रूप में एक ही स्पिनर उतारने के लिए प्रतिबद्ध दिख रहा है.

तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह पहले दो टेस्ट मैच में चोट के कारण टीम से बाहर थे. अब माना जा रहा है कि वह फिट हो चुके हैं. ऐसे में तीसरे टेस्ट में कुलदीप के स्थान पर बुमराह को मैदान पर उतारा जा सकता है. उमेश यादव का विकल्प भी टीम के पास मौजूद है.

भुवी पर भी है सस्पेंस कायम

अभी तक भुवनेश्वर कुमार की स्थिति को स्पष्ट नहीं किया गया है. भुवनेश्वर भी पहले दो टेस्ट मैचों में बाहर थे और टीम प्रबंधन ने कहा था कि दो मैचों के बाद उन पर फैसला लिया जाएगा. अभी तक कोई भी स्थिति सामने न आने के कारण लग रहा है कि भुवनेश्वर तीसरे मैच के लिए उपलब्ध नहीं रहेंगे. 

इंग्लैंड की बात की जाए तो उसे बेन स्टोक्स के आने से मजबूती मिलेगी. वह दूसरे टेस्ट में ब्रिस्टल मामले में सुनवाई के कारण नहीं खेले थे. कप्तान जोए रूट ने मैच की पूर्व संध्या पर अंतिम एकादश का ऐलान कर दिया दिया है जिसमें एक बदलाव देखने को मिला है. सैम कुरैन के स्थान पर स्टोक्स को तीसरा टेस्ट खेलने का मौका मिलेगा. बाकी कोई और बदलाव टीम में नहीं किया गया है. 

टीमें :

भारत : विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे (उप-कप्तान), रविचंद्रन अश्विन, शिखर धवन, मुरली विजय, लोकेश राहुल, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), ऋषभ पंत (विकेटकीपर), करुण नायर, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, कुलदीप यादव, हार्दिक पांड्या, उमेश यादव, ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, चेतेश्वर पुजारा, शार्दूल ठाकुर.

इंग्लैंड : जोए रूट (कप्तान), जेम्स एंडरसन, जॉनी बेयरस्टो, स्टुअर्ट ब्रॉड, जोस बटलर, एलिस्टर कुक, बेन स्टोक्स, कीटन जेनिंग्स, ओली पोप, आदिल राशिद, क्रिस वोक्स.