जबलपुर के विजय नगर थाना पुलिस ने हत्या की गुत्थी को सुझलाते हुए एक युवती को गिरफ्तार किया है साथ ही युवती के दो साथियों की गिरफ्तारी करने के लिए पुलिस टीम लखनऊ भेजी गई है. एसपी अमित सिंह ने बताया कि  किराए के मकान में रहने वाले उमाशंकर को दो गोली मारी गई थी.

हत्यारों ने मृतक के सिर पर तकिया लगाकर सिर में गोली मारी थी, जिससे घर में गोली चलने की आवाज ना सुनाई दे. पुलिस ने बताया कि उमाशंकर की हत्या उसी की साली ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर की थी. आरोपी पिछले 14 सालों से अपनी बहन व जीजा के घर पर उनके साथ ही रहती थी.

पुलिस ने बताया की आरोपी युवती ने अपने जीजा उमाशंकर की हत्या करना कबूल किया है. पूछताछ में युवती ने बताया कि वह जीजा के द्वारा किए जा रहे शारीरिक शोषण से परेशान हो चुकी थी, जिसके बाद उनसे अपने लखनऊ निवासी प्रेमी अंकित यादव के साथ हत्या करने की योजना बनाई. अंकित ने इस काम के लिए अपने दोस्त गोलू ठाकुर को जबलपुर भेजा था.

हत्या की वारदात को अंजाम देने के लिए गोलू ठाकुर 13 अगस्त को जबलपुर पहुंचा और रात में आरोपी युवती के घर में छुप गया था. 14 अगस्त की रात में घर के सदस्यों के सोने के बाद युवती ने गोलू को इशारा किया और हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद साड़ी के सहारे नीचे उतरकर फरार हो गया. हत्या के बाद युवती ने घर में जमकर कोहराम मचाया व अपने भांजे के साथ पुलिस थाने पहुंचकर पुलिस को साथ लेकर आई थी.

आरोपी युवती ने पुलिसिया पूछताछ में बताया कि मृतक जीजा कई सालों से उसे शारीरिक रूप से प्रताड़ित कर रहा था और उसकी शादी भी नहीं होने दे रहा है, जिससे तंग आकर जनवरी में उसने जीजा का घर छोड़ दिया था और लखनऊ में अपने प्रेमी के पास चली गई थी. इसके बाद उमाशंकर उसे वहां से जबरन ले आया था और अपने ही घर में रहने के लिए मजबूर कर दिया था. पुलिस ने आरोपी युवती को गिरफ्तार कर लिया है और दो साथियों अंकित यादव व गोलू ठाकुर की तलाश के लिए पुलिस टीम को लखनऊ भेजा गया है.