दिग्विजय सिंह ने दिल्ली में कहा कि ना कालाधन आया, ना 15 लाख रुपए खातों में आए. आतंकवाद और भ्रष्टाचार भी ख़त्म नहीं हुआ है. जनता सचेत है, अब लोग समझ गए हैं कि इन पर भरोसा नही किया जा सकता

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला करते हुए कहा कि वो सपनों के सौदागर हैं. सपने बेचते हैं पीएम. 2014 में बेचे सपने आज तक सपने ही हैं और अब वो 2019 के लिए तैयारी करने लगे हैं.

 

दिग्विजय सिंह ने दिल्ली में कहा कि ना कालाधन आया, ना 15 लाख रुपए खातों में आए. आतंकवाद और भ्रष्टाचार भी ख़त्म नहीं हुआ है. जनता सचेत है, अब लोग समझ गए हैं कि इन पर भरोसा नही किया जा सकता.प्रधानमंत्री के दावों पर दिग्विजय सिंह ने कहा MSP 60 के दशक से तय हो रही है. OROP का फैसला UPA का है और GST का तो खुद पीएम नरेंद्र मोदी ही पहले विरोध करते थे. GST में कई बार परिवर्तन कर चुके हैं. जैसे नोटबंदी बिना सोचे समझे लागू की थी. 87 फ़ीसदी करेंसी बाहर कर दी और नए नोट छापे नहीं. जनता परेशान हुई.

 

दिग्विजय सिंह ने सवाल पूछा शिवराज सिंह या पीएम ही बता दें किस प्रकरण में 5 दिन में बलात्कारी को सज़ा मिली है. वो झूठ बोलकर लोगों को गुमराह कर रहे हैं. दिग्विजय सिंह ने कहा ट्रिपल तलाक़ ज़रूरी था इसमें क्यों देर की गयी. संसद सत्र के शुरू में बिल लाते या दो दिन सत्र बढ़ा देते किसने रोका था.

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि हिंदू मुस्लिम की बात करके NDA सरकार अपनी असफलता को छुपाना चाहती है. दिग्विजय सिंह ने ये भी कहा कि मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री में कहां निवेश आया है पीएम मोदी ये बताएं. भाजपा की नीति है झूठ बोलो, जल्दी-जल्दी बोलो और ज़ोर-ज़ोर से बोलो.