टोक्यो ओलम्पिक खेलों के लिए क्वालीफाई करने का लक्ष्य लेकर भारतीय महिला एवं पुरुष हॉकी टीमें एशियाई खेलों के लिए इंडोनेशिया रवाना हो गईं। भारतीय टीमों का लक्ष्य इस टूनार्मेंट में स्वर्ण पदक पर निशाना साधना होगा। इस टूनार्मेंट के लिए भारतीय पुरुष हॉकी टीम को पूल-ए में शामिल किया गया है और वह अपने अभियान की शुरुआत 20 अगस्त को मेजबान टीम इंडोनेशिया के खिलाफ करेगी। 


महिला टीम की कमान रानी रामपाल के हाथों में

भारतीय महिला हॉकी टीम को पूल-बी में जगह मिली है और वह भी 19 अगस्त को इंडोनेशिया के खिलाफ ही मैच के साथ एशियाई खेलों का आगाज करेगी। महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी ने कहा, 'हम हॉकी विश्व कप में दिए अच्छे प्रदर्शन से मिले अनुभव के साथ एशियाई खेलों में कदम रख रहे हैं। विश्व कप से हमारा आत्मविश्वास और भी मजबूत हुआ है। हमें सेमीफाइनल में न पहुंचने की निराशा है, लेकिन एशियाई खेलों में पदक जीतकर हम अपनी विश्व कप की इस असफलता का दाग धो देंगे।'

पुरुष टीम की कमान पी आर श्रीजेश के हाथों में

भारतीय पुरुष टीम के कप्तान पी.आर.श्रीजेश ने कहा, 'बेंगलुरू में राष्ट्रीय शिविर में बहाए पसीने से हमें एशियाई खेलों के लिए अच्छी बढ़त मिली है। हमने शिविर में बांग्लादेश, दक्षिण कोरिया और न्यूजीलैंड के खिलाफ अभ्यास मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया था। ऐसे में हम गोल स्कोर पोजीशन में हुए बदलावों को लागू करने की कोशिश करेंगे। हमें अब स्वर्ण पर नजर बनाए रखने की जरूरत है।'