नई दिल्ली: आज पूरा देश को आजादी के 72वें साल को मना रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ले में बुधवार सुबह 7.30 बजे लाल किले के प्राचीर पर तिरंगा फहराया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने राजघाट पहुंच राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी. 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी का लाल किले के प्राचीर से ये आखिरी भाषण है. तिरंगा फहराने के बाद 'जन मन गण' की धुनें सुनकर हर भारतीय का सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है. वहीं दूसरी तरफ अपन राष्ट्रगान सुनकर पीएम मोदी की आंखों में आंसू आ गए. 


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकिले पर तिरंगा फहराया. लालकिले पर तोपों की सलामी और राष्ट्रगान के साथ ध्वजारोहण हुआ. इस मौके पर पीएम मोदी राष्ट्रगान के बोल सुनकर भाव-विभोर हो गए. राष्ट्रगान गाते हुए पीएम का गला रूंध आया. 


आज 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपने भाषण में कई बड़ी योजनाओं का ऐलान कर सकते हैं. माना यह भी जा रहा है कि आज के संबोधन में प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना का ऐलान कर सकते हैं. 

लालकिले में ध्‍वजारोहण समारोह में देश के कई राजनेता मौजूद हैं. कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी, बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, लोकसभा अध्‍यक्ष सुमित्रा महाजन शामिल हैं. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर देश का कोना-कोना सज गया है. हर जगह चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम हैं. 


लालकिले पर सुरक्षा में 10 हजार पुलिसकर्मी 

दिल्ली की रखवाली में लगभग 70 हजार पुलिसकर्मी तैनात हैं. 10 हजार पुलिसकर्मी लालकिले पर सुरक्षा के लिए तैनात किए गए हैं. दिल्ली पुलिस के कर्मियों से विशेष रूप से आसमान पर नजर रखने को कहा गया है जिससे कि यह सुनिश्चित हो सके कि लालकिले के आसपास के क्षेत्रों में कोई पतंग दिखाई न दे. पिछले साल, प्रधानमंत्री जब स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्र को संबोधित कर रहे थे तो एक काली पतंग मंच के सामने आकर गिरी थी.