नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर ट्वीट कर देशवासियों को बधाई दी है। जबकि, दूसरी तरफ केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अपने आवास पर ध्वजारोहण किया और उसके बाद वहां पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों को मिठाईयां बांटी।

 


इधर, स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में चप्पे चप्पे पर सुरक्षा के बेहद कड़े इंतजाम किए गए हैं। पीएम मोदी के संबोधन स्थल लाल किले और राजधानी के अन्य महत्वपूर्ण स्थलों पर सुरक्षा के इंतजामों के बीच दिल्ली को अभेद्य किले में तब्दील कर दिया गया है। राजधानी दिल्ली में सुरक्षा में करीब 70 हजार पुलिसकर्मियों की तैनात हैं। जबकि, करीब 10 हजार पुलिसकर्मी लाल किले पर सुरक्षा के लिए तैनात किए गए हैं, जहां प्रधानमंत्री के संबोधन के दौरान वरिष्ठ मंत्रियों, शीर्ष नौकरशाहों, विदेशी हस्तियों और आम लोगों की मौजूदगी होगी। 


लाल किले की तरफ जाने वाली सड़कों पर पांच सौ से अधिक और लाल किले के अंदर दो सौ से अधिक कैमरे लगाए गए हैं। फुटेज पर चौबीसों घंटे नजर रखी जा रही है। इस बार दिल्ली पुलिस की स्वात इकाई की 36 महिला कर्मी भी अपने पुरुष सहकर्मियों के साथ आयोजन स्थल की सुरक्षा में तैनात होंगी। दिल्ली पुलिस के कर्मियों से विशेष रूप से आसमान पर नजर रखने को कहा गया है जिससे कि यह सुनिश्चित हो सके कि लालकिले के आसपास के क्षेत्रों में कोई पतंग दिखाई न दे।



दिल्ली पुलिस शहर में पहले ही पैरा ग्लाइडिंग, ड्रोन या हॉट एयर बलून उड़ाने जैसी गतिविधियों को प्रतिबंधित कर चुकी है। इसके अलावा, लाल किले के पास की इमारतों पर पुलिस और अर्द्धसैनिक बल के जवान तैनात हैं। प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास से लाल किले तक उनके काफिले वाले मार्ग पर सैकड़ों सीसीटीवी कैमरों के जरिए नजर रखी जा रही है। दिल्ली पुलिस और अर्द्धसैनिक बल के गुप्तचर पार्किंग क्षेत्रों पर भी नजर रख रहे हैं।