नई दिल्ली, देश को आज़ादी मिले 71 साल पूरे हो गए हैं. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर देश का कोना-कोना सज गया है. हर जगह चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार सुबह 7.30 बजे लाल किले के प्राचीर पर तिरंगा फहराया. PM ने राजघाट पहुंच राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी. 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी का ये लाल किले के प्राचीर से आखिरी भाषण है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पूरा भाषण...


7.33 AM: लाल किले के प्राचीर से देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश आज नई ऊंचाईयों को पार कर रहा है. आज का सूर्योदय नए उत्साह को लेकर कर आया है. हमारे देश में 12 साल में एक बार नीलकुरिंज का पुष्प उगता है, इस साल ये पुष्प तिरंगे के अशोक चक्र की तरह खिल रहा है.


PM ने कहा कि आज देश के कई राज्यों की बेटियों ने सात समंदर को पार किया और सभी को तिरंगे से रंग दिया. उन्होंने कहा कि आज हम आजादी का पर्व उस समय मना रहे हैं, जब आदिवासी बच्चों ने एवरेस्ट पर तिरंगा फहराया है.


उन्होंने कहा कि अभी-अभी संसद के दोनों सदनों के सत्र खत्म हुए हैं, हमारे कोशिश है कि सदन से हमने देश में सामाजिक व्यवस्था के न्याय को आगे बढ़ाने का काम किया है. ओबीसी आयोग को हमने संवैधानिक दर्जा देकर उन्हें बराबरी का हक दिया है. प्रधानमंत्री बोले कि आज हर भारतीय इस बात का गर्व कर रहा है आज हम दुनिया की छठीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है. देश की आजादी के लिए कई महापुरुषों ने अपनी जान दी है, मैं उन सभी को नमन करता हूं.


पीएम ने इस दौरान देश के सभी जवानों को सलाम किया और देश की सेवा के लिए उनका धन्यवाद किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि आज देश में कई जगह अच्छी बारिश हो रही है, लेकिन कई जगह बाढ़ के हालात हैं. जहां पर भी मुसीबत है वहां सरकार सहायता कर रही है.


PM मोदी ने कहा कि अगले साल जलियांवाला बाग कांड को सौ साल पूरे हो रहे हैं, ऐसे में हम उन सभी शहीदों को नमन करते हैं. उन्होंने दक्षिण के कवि सुब्रामणियम भारती की कुछ पंक्तियों का जिक्र करते हुए कहा कि भारत दुनिया को नया रास्ता दिखाएगा. PM ने कहा कि हम चाहते हैं कि दुनिया में साख और धाक हो.


प्रधानमंत्री ने कहा कि 2014 में लोगों ने सिर्फ नई सरकार नहीं बनाई है, जबकि उन्होंने देश को बनाने के लिए काम किया है. आज देश में 125 करोड़ हिंदुस्तानी नया देश बनाने में जुटे हैं. PM बोले कि हमें ये देखना होगा कि हम कहां से चले थे और कहां पर पहुंचे थे ये हमें देखना होगा. अगर हम 2013 को इसका आधार मानें और अगर 2014 के बाद से देश की रफ्तार देखें तो आपको हैरानी होगी.


प्रधानमंत्री बोले कि आज देश में शौचालय बनाने, गांव में बिजली पहुंचाने, गरीबों को एलपीजी गैस कनेक्शन देने, ऑप्टिकल फाइबर बिछाने की रफ्तार सबसे तेज हुई है. अगर 2013 की रफ्तार से चलते तो ऐसा करने में दशकों लग जाते. पीएम ने कहा कि देश, व्यवस्था, अधिकारी, लोग सब वही हैं लेकिन आज देश बदलाव महसूस कर रहा है. आज देश में दोगुनी रफ्तार से हाइवे बन रहे हैं वहीं चोगुनी रफ्तार से गांव में घर बना रहे हैं.


लालकिले से देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज हम दिव्यांग भाइयों-बहनों के लिए कॉमन साइन डिक्शनरी पर काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि आज सेना में इतना दम है कि वह सर्जिकल स्ट्राइक करती है. उन्होंने कहा कि हमें बड़े लक्ष्यों को लेकर आगे चलना होगा.


PM ने अपने भाषण में किसानों को बढ़े हुए एमएसपी मिलने का भी जिक्र किया, उन्होंने कहा कि हमने पुरानी मांग को पूरा किया. जीएसटी लागू किया गया है, शुरू में थोड़ी कठिनाइयां आने के बाद भी छोटे व्यापारियों ने इसको अच्छी तरह से लिया. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने बेनामी संपत्ति को जब्त करना, OROP जैसे महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं.


उन्होंने कहा कि आज पुरानी दुनिया भारत को उम्मीद की नज़रों से देख रही है, लेकिन 2014 से पहले भारत को अच्छी नज़र से नहीं देखा जाता था. आज ईज़ ऑफ डूइंग बिज़नेस में अच्छी रैंकिंग पर पहुंचे हैं, हर कोई आज भारत की रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म नीति की तारीफ कर रहा है.


PM ने कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था के बारे में आज दुनिया कह रही है कि सोया हुआ हाथी अब जग चुका है और दौड़ने के लिए तैयार है. हमें जिन संस्थाओं में कभी जगह नहीं मिलती थी, आज हम उनके अहम सदस्य हैं. भारत अब अरबों डॉलर के निवेश का केंद्र बन गया है.


उन्होंने कहा कि आज देश में नॉर्थ ईस्ट से हमेशा अच्छी खबरें आ रही हैं, पहले ऐसी खबरें आती थीं जो कोई पढ़ना नहीं चाहता था. पहले देश में सिर्फ बड़े शहरों की चर्चा होती थी, लेकिन अब छोटे शहर-गांव भी अहम रोल निभा रहे हैं. पीएम ने कहा कि देश में अभी तक 13 करोड़ मुद्रा लोन दिए जा चुके हैं, जिनमें 4 करोड़ वो लोग हैं जिन्होंने जिंदगी में पहली बार कोई लोन लिया है. उन्होंने कहा कि देश में इंफ्रास्ट्रक्चर की गति बढ़ी है.


PM मोदी ने लाल किले से कहा कि 2022 जब आजादी के 75 साल होंगे, तब या उससे पहले देश का कोई भी बेटा या बेटी अतंरिक्ष में हाथ में तिरंगा लेकर जाएंगे. चाहे चांद हो या मंगल अब हम मानवसहित गगनयान लेकर जाएंगे. ये पूरी तरह से मेड इन इंडिया होगा. उन्होंने कहा कि हम मक्खन नहीं पत्थर पर लकीर खींचते हैं.


प्रधानमंत्री ने कहा कि स्वच्छता अभियान के कारण करीब 3 लाख बच्चों की जान बची है. पहले स्वच्छता अभियान का मज़ाक उड़ाया गया था. पीएम ने कहा कि भारत सरकार ने प्रधानमंत्री जन आरोग्य अभियान शुरू करने का फैसला किया है, ये आयुष्मान भारत की योजना के तहत 10 करोड़ परिवार को लाभ मिलेगा. करीब 50 करोड़ नागरिकों को 5 लाख रुपए देने की सालाना हेल्थकेयर सुनिधा की योजना है, 25 सितंबर से योजना पूरे देश में लागू होगी.


07.30 AM: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकिले पर तिरंगा फहराया. लालकिले पर तोपों की सलामी और राष्ट्रगान के साथ ध्वजारोहण हुआ


07.20 AM: लालकिले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया

07.15 AM: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लाल किले पहुंचे, रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने किया स्वागत

07.10 AM: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजघाट पहुंचे, पीएम ने लाल पगड़ी, सफेद कुर्ता पायजामा और सफेद साफा पहना हुआ है. प्रधानमंत्री ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी.

07.07 AM: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लालकिले पर पहुंचे, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी मौजूद


06.58 AM: पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन, पूर्व पीएम एचडी देवगौड़ा समेत कई हस्तियां लालकिले पर मौजूद

06.48 AM: लाल किले पर सुरक्षा व्यवस्था सख्त, कुछ ही देर में पहुंचेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

06.28 AM: गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अपने आवास पर तिरंगा फहराया. इस दौरान उन्होंने वहां मौजूद सभी सुरक्षाकर्मियों को मिठाई बांटी.

06.15 AM: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी बुधवार सुबह ट्विटर के जरिए देश को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी.   

राष्ट्रपति ने देश को किया संबोधित


स्वाधीनता दिवस की 71वीं वर्षगांठ की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का स्मरण करते हुए कहा कि हिंसा की अपेक्षा, अहिंसा की शक्ति कहीं अधिक है. प्रहार करने की अपेक्षा, संयम बरतना, कहीं अधिक सराहनीय है और हमारे समाज में हिंसा के लिए कोई स्थान नहीं है.


राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि इस बार स्वतंत्रता दिवस के साथ एक खास बात जुड़ी है. क्योंकि कुछ ही सप्ताह बाद 2 अक्टूबर से महात्मा गांधी की 150वीं जयंती समारोह शुरू होने वाले हैं.

औरंगजेब, मेजर आदित्य को शौर्य चक्र


स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सशस्त्र बलों के 20 जवानों को शौर्य चक्र से सम्मानित किया जाएगा. इनमें मेजर आदित्य कुमार, राइफलमैन औरंगजेब के नाम भी शामिल हैं. आतंकवादियों ने जून महीने में औरंगजेब की पुलवामा से अगवा करके बर्बरता से हत्या कर दी थी. उस वक्त वह ईद मनाने के लिए छुट्टी पर अपने घर जा रहे थे.