बिलासपुर : शुक्रवार की सुबह चकरभाठा के वार्ड क्रमांक-7 में फेरी लगाने वाले युवक ने अपनी ही पत्नी पर चाकू मारकर हत्या कर दी। इसके साथ ही दो मासूम बच्चों का भी गला रेत कर मौत के घाट उतार दिया। इस घटना से मोहल्ले में सनसनी फैल गई।

पुलिस को जानकारी मिली कि वार्ड नंबर सात स्थित एक घर में तीन लोगों की हत्या की गई है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। छानबीन के दौरान जानकारी मिली कि घर का मालिक अमजद फरार है। पुलिस उसकी पतासाजी कर रही है।

सूचना मिलने के बाद थाना प्रभारी समेत सीएसपी नसर सिद्दीकी भी मौके पर पहुंच गए। सीएसपी सिद्दीकी ने बताया कि मामले में पंचनामा तैयार किया जा रहा है। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार अमजद खान चकरभाठा थाना क्षेत्र का निवासी है। उसके घर में पत्नी के अलावा एक लड़की और एक लड़का है। अमजद घूम-घूम कर मनिहारी का काम करता है।

मौके से चाकू बरामद किया गया है। मृतका पत्नी का नाम आफशा बेगम उम्र 35 साल है। बच्ची का नाम अंजुम निशा उम्र 11 साल और बच्चे के नाम आफताब उम्र 8 साल है। फिलहाल हत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है 



जहरीली पुटू खाने से महीने भर में 35 पहुंचे अस्पताल



बिलासपुर : एक महीने के भीतर 35 लोग जहरीली पुटू खाकर सिम्स पहुंचे हैं। वर्तमान में ऐसे पांच लोगों का उपचार चल रहा है।

बारिश शुरू होते ही पुटू खाकर लोगों के बीमार होने का सिलसिला शुरू हो गया था, जो अभी भी जारी है। सिम्स में ललिता जांगड़े, राजाराम जांगड़े, दीरधा कोरी, अलमू मनहर, सरीता लहरे, शैलेंद्र जायसवाल, कुमारी मनीषा, निखिल कुमार, आकाश जायसवाल, सलमा श्रीवास, राजाराम, शुभम श्रीवास, मंदीप निर्मलकर, सुशीला निर्मलकर, गायत्री निर्मलकर, विनय कुमार, संगीता पटेल आदि का इलाज किया गया है। जानकारी के मुताबिक 20 से ज्यादा लोगों का उपचार निजी अस्पताल में चल रहा है। अभी तक कोई भी गंभीर मामला सामने नहीं आया है। डॉक्टरों के अनुसार पुटू खाने के बाद उल्टी व बेहोशी की शिकायत होने पर तत्काल अस्पताल पहुंचना जरूरी है। देरी करने में गंभीर परिणाम आ सकते हैं।

बाजार में मिलने वाला पुटू भी कर रहा बीमार

शहरी में पुटू 800 से एक हजार रुपये किलो बिक रहा है। ये पुटू भी जहरीला निकल रहा है। यही वजह है सिम्स में करीब 10 मरीज शहरी क्षेत्र के पहुंचे हैं