भोपाल। मध्‍यप्रदेश सरकार चुनावी साल में बड़े पैमाने पर भर्ती करने जा रही है। 30 हजार से ज्यादा नियमित शिक्षकों के पद पर भर्ती की प्रक्रिया 15 अगस्त तक शुरू हो जाएगी। संबल योजना के दायरे में आने वाले पंजीकृत व्यक्तियों के बच्चों ने यदि स्कूल या उच्च शिक्षण संस्थान में फीस जमा कर दी है तो वो वापस लौटाई जाए। यह निर्देश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना 'संबल" की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को दिए।

 

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को बताया कि बकाया बिजली बिल माफी से लोग बहुत खुश हैं। अच्छा फीडबैक आ रहा है। संबल योजना गरीबों का सहारा बन गई है। योजना में पंजीयन की तकनीकी बाधाओं को दूर कर पंजीकृत व्यक्तियों को लाभ का भुगतान बिना देरी किया जाए।

 

उन्होंने कहा कि योजना में शामिल हितग्राहियों के बच्चों ने यदि फीस भर भी दी है तो उन्हें तत्काल पैसे लौटाए जाएं। इस बारे में स्कूल और कॉलेजों को कोई भ्रम नहीं होना चाहिए। इसको लेकर स्पष्ट आदेश जारी किए जाएं। शिक्षा विभाग में नियमित शिक्षकों की भर्ती की प्रक्रिया तत्काल शुरू की जाए। विभागीय अधिकारियों ने बताया कि 15 अगस्त तक नियमित शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया की सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली जाएंगी। इस दौरान मुख्य सचिव बीपी सिंह सहित संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।