भारत और इंग्लैंड के बीच तीन मैचों की सीरीज का आखिरी और निर्णायक मैच आज लीड्स में खेला जाना है। दूसरे मैच में धीमा खेलने के लिए महेंद्र सिंह धौनी का काफी आलोचना हुई थी। कप्तान विराट कोहली ने मैच के तुरंत बाद धौनी के बचाव में सामने आए थे अब तीसरे वनडे से पहले बैटिंग कोच संजय बांगड़र धौनी के सपोर्ट में सामने आए हैं।


पूर्व कप्तान धौनी को लॉर्ड्स पर धीमी पारी के लिए काफी आलोचना झेलनी पड़ रही है। उन्होंने 59 गेंद में 37 रन बनाए लेकिन कप्तान विराट कोहली और लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने उनका बचाव किया था। बांगड़ ने कहा, 'हमारे पास आठवें, नौवें या दसवें नंबर पर बल्लेबाजी में गहराई नहीं है। कुछ विकेट गिरने पर खुलकर खेलना मुश्किल हो जाता है। इंग्लैंड के गेंदबाजों को श्रेय दिया जाना चाहिए, जिन्होंने हमें बांधे रखा और इसी वजह से रन नहीं बन रहे थे।'

'धौनी जब भी तेज खेलना चाहते विकेट गिर जाता'


बांगड़ ने कहा, 'वो उम्मीद कर रहे थे कि कोई उनके साथ टिककर खेलेगा और हम उम्मीद कर रहे थे कि वो 40वें ओवर तक खेलेंगे। हर बार जब वो आक्रामक होने की कोशिश करते तो दूसरे छोर से विकेट गिर जाता। पहले सुरेश रैना, फिर हार्दिक और उसके बाद कोई बल्लेबाज बचा ही नहीं।' उन्होंने कहा, 'हमारे मध्यक्रम को ज्यादा बल्लेबाजी की जरूरत ही नहीं पड़ती क्योंकि टॉप ऑर्डर ही काफी रन बना लेता है। उनमें से सभी खेल के हर फॉरमैट में नहीं खेलते हैं तो कई बार सीधे मैच में उतरना होता है।'


रायडू को आगे मिल सकता है मौका


के एल राहुल दूसरे वनडे में नाकाम रहे और भारत मध्यक्रम में बदलाव पर सोच सकता है। बांगड़ ने कहा, 'मध्यक्रम में एक खब्बू बल्लेबाज चाहिए। यही वजह है कि कार्तिक पर रैना को तरजीह दी गई। टी20 में भी केएल ने तीसरे और विराट ने चौथे नंबर पर बल्लेबाजी की। विराट ने पिछली सीरीज में तीसरे नंबर पर पांच में से तीन मैचों में शतक लगाए थे। उन्होंने कहा, 'हमें खिलाड़ियों की उपलब्धता और फिटनेस देखनी होगी। अंबाती रायुडू मिडिल ऑर्डर का अच्छा बल्लेबाज है लेकिन फिटनेस टेस्ट में नाकाम रहा। आगे फिटनेस टेस्ट में पास होने पर वो दावेदार हो सकता है।'