देश की राजधानी दिल्ली-एनसीआर और हिमाचल प्रदेश में सोमवार को भारी बारिश देखने को मिली। हिमाचल प्रदेश के कई हिस्सों में सोमवार हल्की से मध्यम बारिश हो रही है जबकि मंडी के सुंदरनगर में सोमवार सुबह तक 76.8 मिमी बारिश दर्ज की गई थी। वहीं देश के पश्चिमोत्तर क्षेत्र में अगले 48 घंटों के दौरान कहीं-कहीं भारी बारिश और 19 से 20 जुलाई को जोरदार बारिश की संभावना है। मौसम केन्द्र के मुताबिक अगले दो दिनों में हरियाणा तथा पंजाब के कुछ इलाकों में हल्की बारिश तथा उसके बाद अनेक हिस्सों में बारिश की संभावना है और कहीं-कहीं भारी वर्षा के आसार हैं। 

मौसम विज्ञान विभाग के आंकड़ों के अनुसार सोमवार सुबह तक मनाली में 61.4 मिमी, धर्मशाला में 43.2 मिमी,  ऊना में 26.8 मिमी और कुल्लू के भुंटर में 22 मिमी बारिश दर्ज की गई। हिमचाल प्रदेश में रविवार से अब तक सबसे अधिक तापमान भुंटर में 34.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। देश की राजधानी दिल्ली और एनसीआर में सोमवार को भारी बारिश हुए। 

पिछले 24 घंटों के दौरान पंजाब के कुछ इलाकों, चंडीगढ़ तथा इसके आसपास बारिश हुए और बादल छाए रहे। चंडीगढ में सात मिमी, अंबाला में पांच मिमी, करनाल में 14 मिमी, लुधियाना में आठ मिमी, बल्लोवाल में 71 मिमी, पटियाला में 28 मिमी सहित कुछ इलाकों में बारिश हुई, इससे पारे में तेजी से गिरावट दर्ज की गई। क्षेत्र में न्यूनतम पारा 26 डिग्री से 28 डिग्री के बीच रहा।

पंजाब के बठिंडा जिले में बारिश नहीं होने से गर्मी पड़ रही है तथा गर्मी से राहत पाने के लिए सरहिंद नहर में नहाने गए बीबीवाला गांव के चार युवक डूब गए। उनमें से एक तो तैर कर निकल आया तथा तीन अन्य पानी के तेज बहाव में बह गये।  कुछ इलाकों में अभी अच्छी बारिश नहीं हो सकी है लेकिन आने वाले दिनों में बारिश के आसार हैं।

करनाल का पारा 27 डिग्री, हिसार का 28 डिग्री, रोहतक का 29 डिग्री, अमृतसर का 29 डिग्री, लुधियाना का 25 डिग्री, पटियाला का 26 डिग्री, हलवारा का 26 डिग्री, बठिंडा का 25 डिग्री, दिल्ली का 28 डिग्री, श्रीनगर का 19 डिग्री, जम्मू का 35 डिग्री रहा हिमाचल प्रदेश के ऊंचाई वाले इलाकों में जोरदार बारिश हुई। भुंतर में 22 मिमी, धर्मशाला में 43 मिमी, मंडी में 21 मिमी, शिमला में एक मिमी, सुंदरनगर में 76 मिमी, कांगडा में 21 डिग्री, उना में 26 मिमी, कन्पा में 13 मिमी, मनाली में 61 मिमी सहित कई इलाकों में हल्की से औसत तक और कहीं कहीं भारी वर्षा हुई।