भोपाल। मप्र माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) ने बोर्ड परीक्षा शुल्क बढ़ाने के बाद अब नामांकन शुल्क में भी इजाफा कर दिया है। इससे विद्यार्थियों पर अतिरिक्त भार बढ़ेगा। इस सत्र से 9वीं के विद्यार्थियों को 250 स्र्पए नामांकन शुल्क के बदले 400 स्र्पए देना पड़ रहा है। वहीं मंडल द्वारा अभी तक परीक्षा फीस 550 स्र्पए ली जा रही थी, जिसे मंडल ने 61 फीसदी बढ़ा दिया है। अब 550 स्र्पए से बढ़ाकर परीक्षा शुल्क 900 स्र्पए कर दिया गया है।


बोर्ड परीक्षा में करीब 19 लाख विद्यार्थी हर साल बैठते हैं। इसमें करीब 12 लाख विद्यार्थियों से परीक्षा शुल्क लिया जाता है। एसी-एसटी समेत विकलांग परीक्षार्थियों को परीक्षा शुल्क में छूट दी जाती है। अब मंडल करीब 42 करोड़ स्र्पए अतिरिक्त शुल्क के रूप में वसूलेगा। कुछ अधिकारियों का मानना है कि इस बार से 12वीं में 75 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को भी लैपटॉप दिया जा रहा है। इस कारण भी विद्यार्थियों के ऊपर शुल्क बढ़ाकर वसूला जा रहा है।


खर्चे बढ़े हैं


- मंडल के खर्चें बढ़े हैं। इसके चलते फीस बढ़ाई गई है। अब कॉपी मूल्यांकन अधिकारियों का मानदेय भी बढ़ाया गया है। डॉ भागीरथ कुमरावत, उपाध्यक्ष, माशिमं