नई दिल्ली। भारतीय कार बाजार में अपना पुराना रसूख हासिल करने में जुटी टाटा मोटर्स का नया दांव "हैरियर" होगी। फरवरी, 2018 में ग्र्रेटर नोएडा ऑटो एक्सपो में टाटा मोटर्स ने अपनी कांसेप्ट एसयूवी को एच5एक्स के नाम से पेश किया था, जिसे लोगों ने काफी पसंद किया था।


बुधवार को कंपनी ने बताया कि टाटा हैरियर के नाम से उसकी नई एसयूवी लांच होगी। कंपनी इसे नेक्स्ट जनरेशन का एसयूवी कह रही है। एक नए प्लेटफॉर्म पर होने के साथ इसमें ऑटोमोबाइल क्षेत्र की नई तकनीकी का इस्तेमाल भी होगा। इसकी लांचिंग संभवतः अगले वर्ष की शुरुआत में होगी।


टाटा मोटर्स के प्रेसिडेंट (पैसेंजर व्हिकल्स) मयंक पारीक का कहना है कि यह गेमचेंजर उत्पाद होगा, जो एसयूवी श्रेणी में नया स्टैंडर्ड तय करेगा। अगले वर्ष की पहली तिमाही में इसका वाणिज्यिक उत्पादन शुरू किया जाएगा। यह कंपनी की ब्रांड वैल्यू को बहुत फायदा पहुंचाएगा।


माना जाता है कि टाटा मोटर्स की नवीनतम पेशकश नेक्सॉन से एक श्रेणी ऊपर का यह उत्पाद होगा। सनद रहे कि हाल के वर्षों में नेक्सॉन टाटा की सबसे सफल एसयूवी रही है, जिसकी वजह से कंपनी की बाजार हिस्सेदारी भी बढ़ी है। इसने टाटा मोटर्स को एक बार फिर देश की तीसरी सबसे बड़ी कार कंपनी बनने में मदद की है।


टाटा समूह के अधिकारियों का कहना है कि हैरियर इस तरह से लांच की जाएगी कि अगर जरूरत पड़े तो उसे आने वाले दिनों में इलेक्ट्रिक वाहन के रूप में भी पेश किया जा सके। कंपनी की रणनीति है कि वह वर्ष 2020 तक भारत के पैसेंजर कार बाजार के 95 फीसद वर्गों में उत्पाद लांच कर दे।


पिछले दो वर्षों में पांच नए मॉडल लांच करने के बावजूद अभी 65 फीसद वर्गों में ही कंपनी के उत्पाद हैं। अब अगले तीन साल के भीतर बड़े एसयूवी, प्रीमियम हैचबैक, वैन, मल्टी यूटिलिटी व्हीकल (एमपीवी) उत्पाद लांच करने की तैयारी है। इस लिहाज से हैरियर कंपनी की भावी रणनीति का सबसे अहम हिस्सा होगी।