विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटे मध्यप्रदेश में चुनाव से एन पहले नये मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी नियुक्त कर दिए गए हैं. निर्वाचन आयोग ने इस पद पर तीन साल से तैनात सीईओ सलीना सिंह को हटाकर उनकी जगह वी एल कांताराव को नियुक्त किया है. लोकेश जाटव अतिरिक्त सीईओ होंगे. कांताराव 1992 बैच के अधिकारी हैं.


राज्य सरकार ने निर्वाचन आयोग को 3 नाम का पैनल भेजा था. उसमें वी एल कांताराव के साथ संजय दुबे और के सी गुप्ता के नाम थे. आयोग ने कांताराव के नाम को मंज़ूरी दी, जो अभी तक सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग विभाग के प्रमुख सचिव थे. हालांकि कांताराव पहले भी चुनाव से संबंधित कामकाज देख चुके हैं. वो 2013 में विधानसभा चुनाव के दौरान अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी रह चुके हैं.


इस फेरबदल की वजह यही है कि सलीना सिंह ने पिछले महीने 26 जून को ही 3 साल पूरे किए थे. आयोग का आदेश है कि चुनाव ड्यूटी में लगे अफसर, एक ही जगह पर तीन साल से ज़्यादा पोस्टिंग नहीं होना चाहिए. इस लिहाज़ से सलीना सिंह को हटाया जाना तय था.


सलीना सिंह का कार्यकाल लगातार चर्चा में रहा. मतदाता सूचियों में गड़बड़ी, ईआरओ-नेट व्यवस्था लागू करने में आनाकानी और वीपीमैट मशीन जांच को लेकर विवाद उठे. मुंगावली और कोलारस उप चुनाव के दौरान उनका बीजेपी कार्यकर्ताओं से ज़बरदस्त विवाद भी चर्चा में रहा. सलीना सिंह अब वापस राज्य सरकार में अपनी सेवाएं देंगी