वॉशिंगटन। अमेरिकी नौसेना के दो युद्धक जहाज हाल ही में ताइवान स्ट्रेट से गुजरे। बताया जा रहा है कि ताइवान इसे चीन के साथ बढ़ते तनाव के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के समर्थन के रूप में देख रहा है। अमेरिकी नौसैन्य अधिकारी ने सीएनएन चैनल को बताया कि यूएसएस मस्टिन और यूएसएस बेनफोल्ड युद्धपोत उत्तर की ओर रवाना हुए थे। प्रशांत बेड़े के प्रवक्ता कैप्टन चार्ली ब्राउन ने जहाजों के ताइवान स्ट्रेट से होकर गुजरने को नियमित गश्ती का हिस्सा बताया। ब्राउन ने कहा ‎कि अमेरिकी नौसेना के जहाज ताइवान स्ट्रेट के जरिए दक्षिण चीन सागर और पूर्वी चीन सागर के बीच से होकर गुजरे थे और ऐसा कई सालों तक किया गया है। इससे पहले शनिवार को ताइवान के रक्षा मंत्री ने कहा कि जहाज उत्तर-पूर्व दिशा की तरफ घूम रहे थे, उन्होंने कहा कि हालात नियमों के तहत है। अमेरिका के ताइवान के साथ कोई औपचारिक संबंध नहीं हैं, लेकिन यह कानून के तहत इस द्वीप की मदद करने के लिए बाध्य है। चीन नियमित रूप से कहता रहा है कि अमेरिका के साथ संबंधों में ताइवान संवेदनशील मुद्दा है। इवान स्ट्रेट से इसी तरह गुजरने वाली घटना करीब एक साल पहले हुई थी, जिसके बाद चीनी सैनिकों ने ताइवान के आसपास कई अभ्यास किए थे, जिसने ताइपे और पेइचिंग के बीच तनाव बढ़ा दिया था।