चिरांगराई (थाईलैंड), थाईलैंड की थाम लुआंग गुफा में 23 जून से फंसे 12 लड़कों और उनके फुटबॉल कोच को बाहर निकालने के लिए अब गोताखोरों की मदद ली जा रही है. गोताखोरों की मेहनत रंग ला रही है. मिल रही जानकारी के मुताबिक 6 बच्चों को गुफा से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है. अब 5 बच्चे और एक कोच गुफा के अंदर फंंसे हैं. गुफा से निकाले गए बच्चों को एंबुलेंस के जरिये अस्पताल पहुंचाया जा रहा है. हालांकि थाई नेवी ने अभी तक 4 बच्चों को निकाले जाने की पुष्टि की है.


दरअसल तमाम रेस्क्यू ऑपरेशन फेल होने के बाद आनन-फानन में बच्चों को बाहर निकालने के लिए 13 विदेशी गोताखोर और थाइलैंड नेवी सील के 5 गोताखोर लगाए गए हैं. इसमें 10 गोताखोर पहले चरण में अभियान को अंजाम दे रहे हैं. प्लान के मुताबिक ये गोताखोर गुफा के अंदर पहुंच रहे हैं और वहां से दो गोताखोरों की मदद से एक बच्चे को बाहर निकाला जा रहा है. यानी हर बच्चे को बाहर निकालने में दो गोताखोर लगे हैं.

मिल रही जानकारी के मुताबिक गोताखोरों को गुफा का एक चक्कर पूरा करने में करीब 11 घंटे का समय लग रहा है. उम्मीद जताई जा रही है कि आज शाम साढ़े 7 बजे तक गुफा में फंसे सभी बच्चों और कोच को बाहर निकाल लिया जाएगा. बचाव अभियान के प्रमुख नारोंगसाक असोतानाकोर्न ने यह जानकारी दी. थाईलैंड के गोताखोर इस मिशन का नेतृत्व करेंगे और विदेशी गोताखोर ऑक्सीजन टैंक लिए हुए होंगे. रेस्क्यू में बचाने के लिए 8 देशों के एक्सपर्ट लगे हुए हैं. बचाव दल में ऑस्ट्रेलिया, ब्रिटेन और यूरोप एवं एशिया के अन्य हिस्सों से भी गोताखोर शामिल हैं.


अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा कि अमेरिका थाई सरकार के साथ मिलकर बच्चों को सुरक्षित गुफा से बाहर निकालने में मदद कर रहा है. ट्रंप ने कहा कि ये सभी बहादुर और योग्य हैं.

दरअसल 'वाइल्ड बोर्स' नाम की यह फुटबॉल टीम गुफा में 23 जून से फंसी है. ये लोग अभ्यास के बाद वहां गए थे और भारी मानसूनी बारिश की वजह से गुफा में काफी पानी भर जाने के बाद वहां फंस गए. इस घटना ने समूचे थाईलैंड और दुनियाभर का ध्यान अपनी तरफ खींचा है. अधिकारी लगातार लड़कों और उनके कोच को बाहर निकालने के लिए संघर्ष कर रहे थे.


हालांकि बचावकर्मियों ने बताया कि इन बच्चों को निकालना समय से होड़ करने जैसा है क्योंकि मानसूनी वर्षा के पानी से भरी गुफा की जलनिकास व्यवस्था पर पानी फिर सकता है. इस बीच, पहाड़ में 100 से अधिक छेद किये गये हैं ताकि निकलने का एक अन्य मार्ग ढूंढा जा सके और बच्चे डूबी सुरंग में और अंदर जाने को बाध्य नहीं हों.


गौरतलब है कि 23 जून को वाइल्ड बोर्स नाम की टीम ने फुटबॉल मैच खेला. बच्चे हमेशा की तरह मौज मस्ती करना चाहते थे. साइकिल रेस लगाते हुए टीम गुफा तक जा पहुंची.  13 जिदंगियों में 12 फुटबॉल खिलाड़ी हैं और एक कोच है.