बेंगलुरू। कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने गुरूवार को कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार का पहला बजट पेश किया। कुमारस्वामी ने बजट पेश करते हुए 2 लाख रूपये तक किसानों के ऋण माफ करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि फसल ऋण माफी योजना के तहत किसानों को 34 हजार करोड़ रूपये का फायदा मिलेगा।

कुमारस्वामी ने कहा- मैने यह फैसला किया है कि पहले चरण में 31 दिसंबर 2017 के बकाये फसली ऋण माफ किए जाएंगे। जिन्होंने समय से ऋण का पैसा चुका दिया था उन्हें प्रत्साहन के तौर पर उस ऋण या फिर 25 हजार दोनों में से जो कम होगा वह उन्हें दिया जाएगा।

कुमारस्वामी ने किया था चुनावी घोषणापत्र में ऋण माफी का वादा

मुख्यमंत्री ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में यह वादा किया था कि वे ऑफिस संभालने के 24 घंटे के भीतर करीब 53 हजार करोड़ रूपये का किसान ऋण माफ कर देंगे।हालांकि, पूर्ण बहुमत नहीं मिलने का हवाला देकर कुमारस्वामी ने यह आश्वासन दिया कि वे राज्य में चरणबद्ध तरीके से ऋण माफ करेंगे।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ऋण माफी का मुद्दा उठाया। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा- “कर्नाटक बजट की पूर्व संध्या पर मैं पूरी तरह से आश्वस्त हूं कि कांग्रेस-जेडीएस की गठबंधन सरकार अपने वादे के अनुरूप खेती को लाभकारी बनाने के लिए किसानों के ऋण माफ करेगी। यह बजट हमारी सरकार के लिए एक अवसर होगा कि वह कर्नाटक में ऐसा कर देशभर के किसानों की उम्मीद जगाए।” 

काफी उम्मीदों के बीच कुमारस्वामी को गुरुवार को कठिन चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है, खासकर तब जब गठबंधन सरकार के कॉर्डिनेशन कमेटी की अध्यक्षता करनेवाले पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने यह फैसला किया है कि पिछली कांग्रेस सरकार के वक्त कल्याणकारी योजनाओं को लेकर जो घोषणाएं की गई थी वह जारी रहेगी।