कराची भारत-पाक के बीच राजनीतिक मसलों के चलते दोनों देश के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज अधर में लटकी हुई है। दोनों देशों की बीच सीरीज करवाने के तमाम प्रयासों के चलते अब पाकिस्तान के दिग्गज खिलाड़ी जावेद मियांदाद सामने आए हैं। पूर्व टेस्ट कप्तान जावेद मियांदाद ने भारत और पाकिस्तान के क्रिकेट बोर्ड को सलाह दी है कि वे दो पड़ोसी देशों के बीच सीरीज दोबारा शुरू करने के लिए एक साथ मिलकर काम करें। 

उन्होंने कहा, 'इस विश्व टेस्ट चैंपियनशिप या आईसीसी समर्थित किसी और लीग का क्या मतलब अगर इसमें भारत और पाकिस्तान एक दूसरे के खिलाफ नहीं खेलें।' मियांदाद ने सभी उम्मीद खो दी है कि आईसीसी भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट दोबारा शुरू कराने में कोई भूमिका निभाएगा जो 2008 से निलंबित है। इस बीच 2012-13 में सिर्फ सीमित ओवरों की एक छोटी सीरीज खेली गई। 


'क्रिकेट से कम होगा राजनीतिक तनाव'

मियांदाद ने कहा, 'भारत और पाकिस्तान सीरीज एशेज से कहीं बड़ी है और अगर हम अपने मसलों को सुलझा लें तो दोनों देश क्रिकेट जगत पर राज कर सकते हैं।' उन्होंने कहा कि अतीत में राजनीतिक रिश्तों का स्तर चाहे जैसा भी रहा हो, हमने बेहद तनावपूर्ण हालात में क्रिकेट खेला है और अंतत: इससे सरकारों को मदद मिली। उन्होंने कहा कि अगर द्विपक्षीय क्रिकेट होता है तो इससे दोनों देशों के बीच तनाव कम करने में मदद मिलेगी। मियांदाद ने कहा कि अगर भारत और पाकिस्तान विश्व कप या चैंपियन्स ट्राफी जैसी आईसीसी प्रतियोगिताओं या एशिया कप में खेल सकते हैं तो फिर द्विपक्षीय मैच क्यों नहीं।