इंदौर । स्वच्छता सर्वेक्षण की जारी की गई रैंकिंग में एक बार फिर इंदौर ने बाजी मारी है। इसके साथ ही राजधानी भोपाल ने भी दूसरा स्थान बरकरार रखा है, लेकिन ग्वालियर रैंकिंग में पिछड़ गया है। पहले ग्वालियर 27 वें नंबर पर था अब वह एक रैंकिंग नीचे 28 वें नंबर पर पहुंच गया है।

स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 की जारी सूची में खरगोन शहर ने नई ऊंचाई हासिल की। देश के स्वच्छ शहरों की सूची में जहां खरगोन को 15वीं पायदान पर जगह मिली, वहीं नगर पालिका की हैसियत से इस शहर को पहला स्थान मिला है। गत वर्ष यह शहर देश में 17वें स्थान पर था।

नपा सीएमओ निशिकांत शुक्ला ने बताया कि सर्वेक्षण के 4 हजार अंकों में से नपा खरगोन को 3297 अंक मिले। उन्होंने बताया कि स्वच्छता के मामले में निरंतर नवाचार किया गया। इससे ये परिणाम मिले है, इसे नियमित रखा जाएगा। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों दिल्ली की सर्वेक्षण टीम ने मापदंडों के तहत शहर का सर्वेक्षण किया था। इसके आधार पर खरगोन नपा को ये अंक मिले।
स्वच्छता सर्वेक्षण सूची में जिला मुख्यालय धार देश में 1 लाख से कम आबादी वाले शहरों में 13वें स्थान पर रहा है, जबकि प्रदेश में इस आबादी की श्रेणी में धार को पहला स्थान प्राप्त हुआ है। इसमें लोगों के फीडबैक के साथ नगर पालिका द्वारा किए गए प्रयासों को सफलता मिली है। 4 हजार अंकों में से धार शहर को 2945 अंक मिले। डायरेक्ट आब्जर्वेशन के मामले में धार अग्रणी रहा है।