महोबा। लगातार काम, दिन-रात ड्यूटी, इसके बाद भी घर परिवार के सुख दुख में शामिल हो पाने का मौका न मिल पाना, इस दर्द का अहसास पुलिसकर्मियों से ज्यादा किसे हो सकता है। पुलिसकर्मियों का यही दर्द परिवार बढ़ाने के लिए छुट्टी की अर्जी के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें महोबा के एक सिपाही ने परिवार बढ़ाने के लिए 30 दिन की छुट्टी मांगी है।


दुनिया के सबसे खराब कामों की श्रेणी में पुलिसिंग यूं ही शामिल नहीं है। छुट्टी की जद्दोजहद, परिवार से दूरी, उन्हें समय न दे पाने जैसी विषमताओं से वे हमेशा जूझते हैं। ऐसे में परिवार बढ़ाने के लिए छुट्टी की अर्जी सोशल मीडिया पर देखते ही देखते चर्चित हो गई।


शहर कोतवाली में तैनात एक सिपाही के नाम से वायरल अर्जी में लिखा है कि वह परिवार बढ़ाने के लिए 30 दिन की छुट्टी चाहता है। पुलिस अधिकारी ने अवकाश स्वीकृत करने की संस्तुति भी की। हालांकि सिपाही ने छुट्टी की ऐसी किसी अर्जी से इन्कार किया है लेकिन, शाम को उसे दस दिन की छुट्टी जरूर मिल गई है।


सिपाही का कहना है कि कोई उसे बदनाम करने का प्रयास कर रहा है। 28 वर्षीय फतेहपुर निवासी इस सिपाही की शादी चार साल पहले हुई है। उसे करीब सात महीने से छुट्टी नहीं मिली है और फतेहपुर में रह रही उसकी पत्नी बीमार है।


वहीं, एसपी एन. कोलांची का कहना है कि सभी को समय पर छुट्टी दी जाती है। मामला जानकारी में है। सिपाही से पूछताछ की गई है। उसकी अर्जी नहीं है। अर्जी किसने वायरल की, इसकी जांच सीओ को सौंपी है।