इंदौर
मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि शहरी इलाकों में महिलाएं अपने बच्चों को स्तनपान नहीं करवाती हैं। उन्होंने कहा कि शहरी महिलाओं को डर होता है कि उनका फिगर खराब हो जाएगा इसलिए वे स्तनपान नहीं करातीं।

पटेल ने बुधवार को यहां काशीपुरी के आंगनवाड़ी केंद्र में एक कार्यक्रम के दौरान कहा, 'आज भी, शहरों में महिलाओं का मानना है कि स्तनपान उनका फिगर खराब कर देगा, यही कारण है कि वे अपने बच्चों को स्तनपान नहीं करवाती हैं। वे बोतल से अपने बच्चों को दूध पिलाना शुरू कर देती हैं।'

उन्होंने कहा, 'अगर बच्चों को बोतल से दूध पिलाया जाता है तो उनकी किस्मत भी बोतल के तरीके से बिखर जाएगी।' पटेल ने नवजात शिशु और मां के स्वास्थ्य के लिए एक अच्छे आहार की आवश्यकता पर बल दिया। राज्यपाल ने गर्भवती महिलाओं को सरकारी योजनाओं के लाभों का लाभ उठाने के लिए आंगनवाड़ी केंद्रों के साथ खुद को पंजीकृत करने की सलाह दी।

राज्यपाल ने महिलाओं को केंद्र की प्रधान मंत्री उज्ज्वल योजना (पीएमयूवाई) का लाभ उठाने के लिए प्रोत्साहित किया, जिसका उद्देश्य स्वच्छ खाना पकाने का ईंधन प्रदान करके महिलाओं और बच्चों को धुएं से दूर रखना है।