फीफा विश्व कप 2018 में बुधवार को खेले गए तीसरे मुकाबले में स्पेन ने ईरान को 1-0 से हरा दिया। ग्रुप 'बी' के तहत खेले गए इस मुकाबले में स्पेन के स्टार खिलाड़ी डिएगो कोस्टा ने 54वें मिनट में गोल कर अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिलाई। बता दें कि विश्व कप में कोस्टा का यह तीसरा गोल है।

गौरतलब है कि पहले हाफ में दोनों टीमें गोलरहित रही। हालांकि, स्पेन ने पहले हाफ में लगातार गोल करने कोशिश की लेकिन ईरान के डिफेंस के आगे नाकाम रहे। दूसरे हाफ के शुरू होने के कुछ ही देर बाद कोस्टा ने वही किया जिसका स्पेन को पिछले 50 मिनट से इंतजार था। कोस्टा ने शानदार गोलकर अपनी टीम को 1-0 से बढ़त दिला दी। हालांकि, इसके कुछ देर के बाद यानी 62वें मिनट में ईरान की तरफ से सैयद एजतोलाही ने शानदार गोल दागा था, लेकिन इसे वीडियो असिस्टेंट रैफरी (वीएआर) ने द्वारा खारिज कर दिया। दरअसल,ऑफसाइड होने की वजह से इस गोल को खारिज कर दिया गया। बता दें कि विश्व कप के इतिहास के ऐसा पहली बार हुआ कि, जब वीडियो असिस्टेंट रेफरी (वीएआर) ने ग्राउंड रेफरी के दिए गोल को खारिज कर दिया है। 

बता दें कि विश्व कप में स्पेन की यह पहली जीत है। अपने पहले मुकाबले में स्पेन ने पुर्तगाल के खिलाफ मैच 3-3 से ड्रॉ खेला था। वहीं, दूसरी तरफ ईरान ने मोरक्को को 1-0 से हराकर अपने जीत की विजय आगाज किया था। स्पेन की उम्मीदें को डिएगो कोस्टा ने सफल बनाया। वहीं, मोरक्को के खिलाफ 1-0 की जीत की मदद से ईरान की टीम ग्रुप बी के टॉप पर थी लेकिन स्पेन से इस मुकाबले में 0-1 से मात मिली। बता दें कि ईरान विश्वकप के नॉकआउट में कभी नहीं पहुंच पाई है।