पाकिस्तान में जन्मे लेकिन 2004 से तेलंगाना के निजामाबाद जिले में रह रहे तीन भाइयों को भारत की नागरिकता दी गई है। जिला प्रशासन के एक अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी नागरिक मोहम्मद सनान, मोहम्मद रूमान और मोहम्मद सैफ को निजामाबाद राजस्व मंडलीय अधिकारी ने उनकी मां की मौजूदगी में उन्हें भारतीय नागरिकता का प्रमाण पत्र दिया। तीनों भाइयों की उम्र 20 से 27 साल के बीच है। 

अधिकारी ने बताया उनकी मां निजामाबाद की रहने वाली हैं। उन्होंने 1988 में अपने दूर के रिश्तेदार और पाकिस्तानी नागरिक से शादी की थी और पाकिस्तान चली गई थीं। अधिकारी के मुताबिक, 2004 में दंपति का तलाक हो गया और उसी साल महिला निजामाबाद लौट आईं। तब से ही उनके बच्चे लंबी अवधि के वीजा पर उनके साथ रह रहे हैं। 

अधिकारी ने बताया कि नियमों के मुताबिक, कोई भी विदेशी नागरिक देश में सात साल रहने के बाद भारत की नागरिकता के लिए आवेदन कर सकता है। महिला ने 2016 में अपने तीन बच्चों को भारतीय नागरिकता दिलाने के लिए आवेदन किया था।

जांच के बाद उनकी फाइल को राज्य सरकार को भेजा गया था जिसने इसे गृह मंत्रालय को भेज दिया। केंद्र ने हाल में उनके आवेदन को मंजूरी दे दी और उन्हें भारतीय नागरिकता प्रदान कर दी गई। अधिकारी ने बताया कि तीनों को कल नागरिकता प्रमाण पत्र सौंपे गए।