मध्य प्रदेश में फर्जी वोटर मामले पर चुनाव आयोग की कार्रवाई जारी है. दरअसल, हाल ही में कांग्रेस द्वारा चार विधानसभा क्षेत्रों में डोर-टू-डोर जांच की गई तो दो हजार फर्जी वोटर पाए गए. राज्य निर्वाचन पदाधिकारी ने मामले की रिपोर्ट केंद्रीय निर्वाचन आयोग को भेज दी है.


दरअसल, कांग्रेस ने चार विधानसभा क्षेत्रों नरेला, भोजपुर, होशंगाबाद और सिवनी मालवा में करीब एक लाख फर्जी मतदाता होने की शिकायत दर्ज कराई थी. जिसके बाद राज्य चुनाव आयोग ने डोर-टू-डोर करवाई में दो हजार मतदाता फर्जी निकले हैं.


बता दें कि कांग्रेस ने चुनाव आयोग को प्रदेश में 60 लाख फर्जी मतदाता होने की शिकायत की थी, जिसे गंभीरता से लेते हुए आयोग ने चार विधानसभा क्षेत्र नरेला, भोजपुर, होशंगाबाद और सिवनी मालवा में जांच टीम भेजी थी.


हालांकि इसके बाद कांग्रेस ने टीम की रिपोर्ट पर असहमति जताते हुए चुनाव आयोग से शिकायत की डोर-टू-डोर जांच कराने के लिए 13 जून को कहा था. इस पर आयोग ने राज्य चुनाव आयुक्त से 18 जून को रिपोर्ट मांगी थी.

इसके बाद राज्य चुनाव आयुक्त ने नरेला, भोजपुर, होशंगाबाद और सिवनी मालवा विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस की शिकायत की डोर-टू-डोर जांच करवाई. इस जांच में दो हजार फर्जी वोटर पाए गए हैं. इन नामों को मतदाता सूची से काटे जाने के निर्देश दे दिए गए हैं.