टॉन्सिल गले में होने वाली समस्या है। इसके होने पर गले के अंदर मांस की गांठ बन जाती है। जिसके कारण गले में सूजन, तेज दर्द, खराश, सांस लेने में तकलीफ, बुखार आदि मुश्किल होती है। इस समस्या के बढ़ने पर खाने-पीने में भी दिक्कत आने लगती है। यह समस्या ज्यादातर बैक्टीरिया, इंफैक्शन, मौसम बदलने और अपनी गलत आदतों के कारण होती है। कई बार कुछ लोगों की अपनी आदतों के कारणों टॉन्सिल की समस्या बढ़ने लगती है। अगर आप अपनी इन आदतों में बदलाव करेंगे तो अपनी समस्या को बढ़ने से रोक सकते हैं।


1. हाथ नहीं धोना

खाना खाने से पहले हाथ न धोने के कारण इन पर लगे बैक्टीरिया गले पर अपना प्रभाव डालते हैं और टॉन्सिल को बढ़ावा देते हैं। इसलिए खाने से पहले एंटी-बैक्टीरियल साबुन से हाथों को जरूर धोएं ताकि हाथों के बैक्टीरिया अच्छी तरह से नष्ट हो जाएं।


2. पानी कम पीना

पर्याप्त मात्रा में पानी न पीने के कारण भी टॉन्सिल की समस्या बढ़ने लगती है। जिसके कारण गले में माइक्रोब्स और फूड पार्टिकल्स चिपक जाते हैं जो टॉन्सिल की समस्या को बढ़ाते हैं। इसलिए टॉन्सिल की समस्या होने पर रोजाना 7-8 गिलास पानी पीएं।


3. खाने का बर्तन शेयर करना

कुछ लोग भोजन करते समय एक-दूसरे के बर्तन में खाना खाने लगते हैं। जिसके कारण एक-दूसरे के बैैक्टीरिया अपने मुंह में जाते हैं, जो टॉन्सिल की समस्या बढ़ाते हैं। अगर आप चाहते हैं टॉन्सिल की समस्या न बढ़े तो अपने ही बर्तन में भोजन करें।


4. टूथब्रश जल्दी न बदलना

अगर आप अपने टूथब्रश को जल्दी नहीं बदलते तो इससे भी गले में टॉन्सिल की समस्या को बढ़ती हैं क्योंकि टूथब्रश पर माइक्रोब्स मे जमे रहते हैं जो टॉन्सिल में जाकर चिपक जाते हैं जो इसे ओरभी ज्यादा बढ़ा देते हैं।


5. खट्टी और ऑयली चीजों का सेवन

कुछ लोग गले में प्रॉब्लम होने के बावजूद भी खट्टी और ऑयली चीजों का सेवन करते रहते हैं, जिसके कारण गले में जलन और खुजली होती है। जिससे टॉन्सिल के चांस बढ़ जाते हैं। इसलिए रोगी को इन चीजों के सेवन से बचना चाहिए।