कप्तान इयोन मोर्गन (69) और जोए रूट (50) की शतकीय साझेदारी के दम पर इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने केनिंग्टन ओवल मैदान पर खेले गए पहले वनडे मैच में आॅस्ट्रेलिया को तीन विकेट से हरा दिया। इस जीत के साथ ही इंग्लैंड ने पांच वनडे मैचों की इस सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली है। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी के लिए मैदान पर उतरी आॅस्ट्रेलिया की टीम 47 ओवर्स में 214 रनों पर सिमट गई। इंग्लैंड ने इस लक्ष्य को 44 ओवर्स में 7 विकेट के नुकसान पर 218 रन बनाकर हासिल कर लिया। 


ग्लेन मैक्सवेल ने संभाली पारी

आॅस्ट्रेलिया के लिए पारी की शुरुआत की खराब रही और 100 रन के अंदर ही उसने ट्रेविस हेड (5), एरॉन फिंच (19), कप्तान टिम पेनी (12), शॉन मार्श (24) और मार्कस स्टोइनिस (22) के रूप में अपने पांच शीर्ष बल्लेबाजों का विकेट गंवा दिया। निचले क्रम में ग्लेन मैक्सवेल (62) और एश्टन एगर (40) ने आॅस्ट्रेलियाई पारी को संभाला और 84 रनों की साझेदारी कर टीम का स्कोर 174 तक पहुंचाया। इसी स्कोर पर मैक्सवेल आउट हो गए। 193 के स्कोर पर एगर भी पवेलियन लौट गए।


मोइन अली ने झटके तीन विकेट

इसके बाद, टीम की पारी पूरी तरह से बिखर गई। टीम के तीन अन्य बल्लेबाज माइकल नेसर (6), एंड्रयू टाई (19) और केन रिचर्डसन (1) ज्यादा कमाल नहीं कर पाए और आॅस्ट्रेलिया की पारी 214 रनों पर सिमट गई। आॅस्ट्रेलिया की पारी को 214 रनों पर समेटने में इंग्लैंड के लिए मोइन अली और लियाम प्लंकट ने अहम भूमिका निभाई। दोनों ने तीन-तीन विकेट लिए। इसके अलावा, आदिल राशिद को दो और डेविड विले तथा मार्क वुड को एक-एक सफलता मिली। 


इंग्लैंड की शुरुआत भी रही खराब

लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही। सलामी बल्लेबाज जेसन रॉय खाता खोले बिना ही पवेलियन लौट गए। इसके बाद 38 के स्कोर तक टीम ने एलेक्स हेल्स (5) और जॉनी बेयरस्टॉ (28) के रूप में अपने दो और विकेट गंवा दिए। यहां से कप्तान मोर्गन और रूट ने टीम की पारी को संभाला। दोनों ने 115 रनों की शानदार शतकीय साझेदारी कर इंग्लैंड को लक्ष्य तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई। 153 के स्कोेर पर मोर्गन पवेलियन लौट गए।


मोइन अली बने प्लेयर आॅफ द मैच

इंग्लैंड के खाते में 10 रन ही जुड़े थे कि रूट का साथ देने आए जोस बटलर (9) भी 163 के स्कोर पर चलते बने। इसी स्कोर पर आॅस्ट्रेलिया ने रूट का विकेट भी गिरा दिया। इसके बाद, अली (17) ने डेविड विले (35) के साथ 34 रन जोड़े और टीम को 197 के स्कोर तक पहुंचाया। इस स्कोर पर अली आउट होकर पवेलियन लौट गए। विले ने प्लंकट (3) के साथ मिलकर लक्ष्य हासिल किया। आॅस्ट्रेलिया के लिए बिली स्टानलेक, टाई और नेसेर ने दो-दो विकेट लिए, वहीं रिचर्डसन को एक सफलता हाथ लगी। इंग्लैंड के लिए सबसे अधिक तीन विकेट लेने वाले मोइन अली को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया।