घर से जब भी निकलें, खुश होकर निकलें। इसका सकारात्मक असर तत्काल दिखाई देगा और पूरा दिन न सिर्फ खुशनुमा रहेगा बल्कि आपसे मिलने वालों के चेहरे पर भी मुस्कान रहेगी। सफलता का ये सबसे सुंदर रास्ता है, जिसकी ताकत हम नहीं जानते। व्यक्तिगत जिंदगी और प्रोफेशनल जिंदगी के बीच जो बेहतर सांमजस्य बनाकर चलता है, वही सुखी इंसान है। जिंदगी से जुड़ी ऐसी कई बातें मर्चेन्ट चैम्बर सभागार में लाइफ स्टाइल एक्सपर्ट्स ने बताईं। 

सोमवार को डॉ. गैर हरि सिंहानिया के जन्मदिवस पर आयोजित कार्यक्रमों की श्रंखला के दूसरे दिन लाइफ स्टाइल मैनेजमेंट और कारपोरेट वैलनेस पर आयोजित कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में डॉ. रेड्डीज फाउंडेशन फॉर हेल्थ एजूकेशन से आए डॉक्टरों ने व्यक्ति विशेष के पेशेवर जीवन व व्यक्तिगत जीवन, स्वस्थ शरीर व स्वस्थ्य मस्तिष्क के विकास, शारीरिक, मानसिक और सामाजिक कल्याण की भावना के के बारे में बताया। 

डॉ. विवेक गर्ग, वरिष्ठ परामर्शदाता, शल्य कैंसर विशेषज्ञ, लखनऊ कैंसर संस्थान ने बताया कि सकारात्मक आशा के साथ कैंसर जैसे घातक रोग का इलाज शुरू होता है। वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. आर.के. बुधवार ने कहा कि यदि हम सकारात्मक सोच रखें और तनावमुक्त रहने की कोशिश करें तो मधुमेह, रक्तचाप व ह्रदय-रोग जैसे जानलेवा बीमारी से दूर रहेंगे। कार्यशाला में सचिव महेंद्र मोदी, पूर्व अध्यक्ष पदम कुमार जैन, अनिल अग्रवाल, एस.सी. गर्ग आदि थे।