छत्तीसगढ़ में बिलासपुर हाईकोर्ट ने ग्रीन कार्ड धारक आवेदकों को शिक्षाकर्मी वर्ग एक भर्ती में आयु सीमा में छूट देने का आदेश दिया है. दरअसल, जिला पंचायत दुर्ग ने शिक्षकर्मी वर्ग एक के रिक्त पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया था. छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मंडल रायपुर ने लिखित परीक्षा ली थी. भर्ती प्रक्रिया में याचिकाकर्ता अमित कुमार शुक्ला ने हिस्सा लिया था.


पूरा मामला


रसायनशास्त्र विषय में चयन होने पर दस्तावेज सत्यापन के लिए याचिकाकर्ता को बुलाया गया. उसकी आयु 35 वर्ष से 4 माह ज्यादा होने पर उसे अपात्र घोषित कर दिया गया. इसके खिलाफ अमित ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की, जिसमें कहा गया कि याचिकाकर्ता की पत्नी ने परिवार नियोजन के तहत साल 2008 में एलटीटी ऑपरेशन कराया था. शासन की नीति के तहत उन्हें ग्रीन कार्ड दिया गया है.

ग्रीन कार्ड धारकों के परिवार के सदस्यों को शासकीय योजना का लाभ दिया जाना है. इसमें वे भर्ती आयु की सीमा में 2 वर्ष की छूट पाने के हकदार हैं. छत्तीसगढ़ पंचायत सेवा (भर्ती और सेवा सामान्य की शर्तें) 199 के अनुसार भी याचिकाकर्ता को ग्रीन कार्ड धारक होने के कारण आयु सीमा में 2 वर्ष की छूट मिलनी चाहिए.


छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग में भी ग्रीन कार्ड धारकों को आयु सीमा में छूट देने का प्रावधान है. नगरीय प्रशासन और कल्याण विभाग में भी अप्रैल 2010 में 74 पदों पर भर्ती में ग्रीन कार्ड धारकों को आयु सीमा में छूट दी गई थी. याचिका पर हाईकोर्ट जस्टिस पी. सेम. कोशी के सिंगल बैंच के वेकेशन कोर्ट में सुनवाई हुई.