बेंगलुरु | कर्नाटक में मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी की ओर से शुक्रवार रात को मंत्रालयों का बंटवारा करने के बाद जेडीएस में भी अंसतोष के स्वर सुनाई देने से लगे हैं। पार्टी के दो मंत्रियों ने अपने विभागों से नाराजगी जताई हैं। वहीं कांग्रेस में पहले ही अपनी अनदेखी से करीब आधे दर्जन विधायक बागी रुख अख्तियार किए हुए हैं। 

जेडीएस के सूत्रों ने शनिवार को बताया कि जी टी देवगौड़ा और सीएस पुत्ताराजू सौंपे गए विभाग को लेकर नाखुश हैं। जीटी देवगौडा को उच्च शिक्षा और पुत्ताराजू को लघु सिंचाई विभाग दिया गया है। जी टी देवगौड़ा ने मैसुरु में चामुंडेश्वरी निर्वाचन क्षेत्र से पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया को हराया था। जबकि पुत्ताराजू ने लोकसभा सीट छोड़कर मेलूकोटे से चुनाव लड़ा और वहां से जीत हासिल की। 

जेडीएस प्रमुख एच डी देवगौड़ा के रिश्तेदार डी सी तमन्ना को परिवहन विभाग दिया जाना भी पुत्ताराजू की  नाराजगी की वजह बताई जा रही है। इस बीच, दोनों मंत्रियों के समर्थकों ने उनके क्षेत्र मैसुरु और मांड्या में  प्रदर्शन किया है। वहीं कुमारस्वामी का कहना है कि केवल मीडिया में असंतोष की खबरें आई हैं, निजी तौर पर किसी ने भी अपना असंतोष नहीं जाहिर किया है। 

कांग्रेस में पहले से नाराजगी 

कांग्रेस के कई विधायक सरकार में अपनी अनदेखी से पहले से ही नाराज है। सूत्रों की मानें तो उन्होंने शुक्रवार को पार्टी के वरिष्ठ नेता और विधायक एमबी पाटिल के घर पर बैठक कर रणनीति पर चर्चा की। सूत्रों के अनुसार नाराज चल रहे विधायकों में सतीश जरकिहोली, एमटीबी नागराज, एचएम रेवन्ना, हेचके पाटिल, डॉ.सुधाकर संगमेश के नाम शामिल है। एमबी पाटिल सिद्धरमैया सरकार में जल संसाधन मंत्री थे, उनकों कैबिनेट मंत्री पद मिलने की उम्मीद थी। इस बीच उप मुख्यमंत्री जी परमेश्वर सहित तमाम नेताओं की ओर से उन्हें मनाने की कोशिशें हो रही हैं। 

येदियुरप्पा ने भी की पुष्टि

कर्नाटक भाजपा के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने भी कांग्रेस में नाराजगी की पुष्टि की है। उन्होंने दावा किया है कि कई कांग्रेस नेता भाजपा से संपर्क कर रहे हैं। उन्होंने शनिवार को बेंगलुरु में पार्टी युवा मोर्चा के सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, मंत्रिपद से वंचित अंसतुष्ट कांग्रेस नेता भाजपा के दरवाजे पर दस्तक दे रहे हैं। लेकिन यह स्पष्ट नहीं किया कि भाजपा उन्हें पार्टी में शामिल किया जाएगा या नहीं। येदियुरप्पा ने असंतुष्ट कांग्रेस नेताओं के नाम बताने से भी इनकार किया।