मंदसौर, मध्यप्रदेश. देशभर में चल रहे किसानों के आंदोलन के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज मध्यप्रदेश के मंदसौर पहुंचे. पिछले साल मंदसौर में प्रदर्शन के दौरान पुलिस फायरिंग में 6 लोगों को मौत हो गई थी. आज इसी की पहली बरसी है. कांग्रेस ने इस मौके पर 'किसान समृद्धि संकल्प रैली' का आयोजन किया.


कांग्रेल अध्यक्ष राहुल गांधी ने रैली में मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि जिस दिन मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार आएगी उसके दस दिन के अंदर किसानों का कर्ज माफ हो जाएगा. गौरतलब है कि राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले राहुल की ये रैली राजनीतिक रूप से भी अहम बताई जा रही है.


राहुल की रैली से पहले ही कांग्रेस ने आरोप लगाया कि लोगों को वहां पर आने से रोका जा रहा है. राहुल के साथ इस रैली में मध्यप्रदेश कांग्रेस के कमलनाथ, दिग्विजय सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत कई बड़े नेता मौजूद रहे. राहुल ने कहा कि जो भी कांग्रेस का कार्यकर्ता जमीन से जुड़ा रहेगा, उसी की यहां की अगली सरकार में जगह होगी.


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रैली में मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला. राहुल ने कहा कि 1 साल पहले एमपी की सरकार ने किसानों पर गोली चलवाई. उन्होंने कहा कि पूरे देश में किसान अपना हक मांग रहा है, चिल्ला रहा है और आत्महत्या कर रहा है. राहुल ने कहा कि चाहे वह पीएम मोदी की सरकार हो या फिर किसी भी राज्य में बीजेपी की सरकार को इनके दिलों में किसानों के लिए जगह नहीं है.


10 दिन में किसानों का कर्ज होगा माफ


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि दिनभर पीएम मोदी और शिवराज सिंह चौहान बातें करते रहते हैं लेकिन किसानों के बारे में कुछ नहीं करते हैं. ये लोग किसानों की पूजा करते हैं लेकिन उनका कर्ज माफ नहीं करते हैं. उन्होंने कहा कि जिस दिन मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार आएगी उसके दस दिन के अंदर किसानों का कर्ज माफ हो जाएगा.


राहुल ने कहा कि जब हमारी सरकार आएगी तो हम खेतों के पास ही फूड प्रोसेसिंग पार्क बनाएंगे जिससे किसानों को पूरा लाभ होगा. उन्होंने कहा कि मैं चाहता हूं कि यहां जो लस्सुन होता है, दस साल में वो लस्सुन चीन की राजधानी बीजिंग में चीनी लोग खाएं. 


मोदी जी ने की है गलत पढ़ाई


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि मोदी जी पढ़े-लिखे तो हैं, लेकिन उनकी पढ़ाई गलत है. उन्होंने आरएसएस वाली पढ़ाई की है, हमारी पढ़ाई उनसे पूरी अलग है. कांग्रेस के लोगों ने प्यार की पढ़ाई की है, लेकिन नफरत की पढ़ाई नहीं की है.


नीरव मोदी को 'नीरव भाई' बुलाते हैं PM मोदी


कांग्रेस अध्यक्ष बोले कि मोदी सरकार अमीरों को लोन देती है लेकिन किसानों का कर्ज माफ नहीं करती है. उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने विजय माल्या, ललित मोदी, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी को भारत का पैसा लेकर विदेश भागने दिया. राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने युवाओं को नौकरी देने का वादा किया था, लेकिन इन्होंने वादा पूरा नहीं किया. राहुल ने कहा कि पीएम मोदी, नीरव मोदी को 'नीरव भाई' और मेहुल चोकसी को 'मेहुल भाई' बुलाते हैं.


चीन के मुद्दे पर भी घेरा


चीन के मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरते हुए राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री चीनी राष्ट्रपति के साथ अहमदाबाद में झूला झूल रहे थे, लेकिन कुछ ही दिन बाद डोकलाम में चीन की सेना घुस गई. उन्होंने कहा कि मोदी जी की जेब में जो फोन है उसके पीछे भी मेड इन चाइना लिखा है, जिससे वो सभी को मैसेज करते हैं.



कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी किया वार


रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता कमलनाथ ने कहा कि आज सिर्फ किसान नहीं बल्कि समाज का हर व्यक्ति परेशान है. उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह चौहान खुद को किसान का बेटा कहते हैं, लेकिन किसानों पर ही गोली चलवाते हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार में समर्थन मूल्य बढ़ता था, लेकिन आज बीजेपी की सरकार में किसान समर्थन मूल्य के लिए ही तरस रहा है.


मंदसौर में रैली को संबोधित करते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि किसानों को हत्या का बदला नवंबर में लिया जाएगा. शिवराज सिंह चौहान को मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री बने रहने का अधिकार नहीं है. उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में किसान परेशान है और मुख्यमंत्री आराम से मज़े में बैठा हुआ है. सिंधिया ने कहा कि मोदी जी GDP बढ़ाने की बात करते हैं, लेकिन ये G (Gas), D (Diesal), P (Petrol) का दाम बढ़ाते हैं.



रैली में शामिल होने से पहले राहुल गांधी ने मंदसौर घटना के पीड़ित परिवारों से मुलाकात की.

 बता दें, अभी एक जून से किसानों का 10 दिन का आंदोलन चल रहा है. आज आंदोलन का छठा दिन है.

राहुल के पहुंचने से पहले मिली धमकी


मंदसौर में राहुल गांधी के पहुंचने से पहले प्रशासन पिछले साल किसान आंदोलन में मारे गए परिवार वालों को राहुल गांधी से मिलने के रोकने के प्रयास तेज कर दिए थे. गोली कांड में मारे गए अभिषेक के माता-पिता ने आरोप लगाया है कि प्रशासन उन्हें धमकी दे रहा है कि राहुल गांधी से नहीं मिले.

अभिषेक की मौत के बाद सरकार ने उसके भाई संदीप पाटीदार को नागपुर में चतुर्थ वर्ग की नौकरी दी है. उसे फोन पर बारे के एडीएम आर. के. वर्मा ने धमकी दी है तुम सरकारी नौकरी में हो और अगर तुम्हारे माता-पिता राहुल गांधी से मिलने गए तो तुम्हारी नौकरी भी जा सकती है.


इससे पहले अभिषेक के चाचा मधुसूदन पाटीदार से मंदसौर प्रशासन ने भी भरवाने की कोशिश की थी. एडीएम आपके वर्मा ने फोन पर सफाई दी कि वो तो बस जानकारी ले रहे थे कि परिवार से कौन-कौन राहुल गांधी से मिलने जा रहा है.


दरअसल, पिछले साल भी किसानों ने एक जून से 10 जून तक आंदोलन किया था और इसका मुख्य केन्द्र मंदसौर रहा था. 6 जून को मंदसौर की पिपलिया मंडी में पुलिस फायरिंग में 6 किसानों की मौत हुई थी, जिसके बाद समूचे राज्य में हिंसा, लूट, आगजनी एवं तोड़फोड़ हुई थी. राहुल गांधी इसी गोलीकांड की बरसी पर किसानों को कांग्रेस से जोड़ने का प्रयास करेंगे.