छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में मानसून का आगमन कुछ ही दिन में होने ही वाला है. बता दें कि छत्तीसगढ़ में इस बार मई के महीने में एक बार भी 'लू' यानि गर्म हवा वाली लहर नहीं चली है. मौसम विभाग के अप्रैल और मई के आंकड़ों के मुताबिक इस बार राज्य में पारा 44 डिग्री के आसपास ही जाकर रुक गया है. ऐसा पिछले कई सालों में पहली बार हुआ है. अगर पिछले साल की बात की जाए तो पिछले साल मई महीने में 8 से 12 दिनों तक 'लू' चली थी. वहीं इस बार एक भी दिन 'लू' चली ही नहीं. हालांकि अब लू चलने की आशंका भी काफी कम हो गई है, क्योंकि आगामी 10 जून तक राज्य में मानसून पहुंच सकता है.


इस संबंध में जानकारी देते हुए मौसम वैज्ञानिक एच. पी. चंद्रा ने बताया कि इस बार दुर्ग जिले में अधिकतम तापमान 43.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है. वहीं रायपुर का तापमान अभी तक 45 डिग्री भी नहीं पहुंचा है. उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में तापमान में कोई खास वृद्धि नहीं होने वाली है. ऐसे में लू का चलना असंभव है. उन्होंने कहा कि पूरे छत्तीसगढ़ में कहीं भी लू चला ही नहीं है.


मौसम वैज्ञानिक की मानें तो पिछले साल रायपुर का अधिकतम तापमान 46 डिग्री तक पहुंच गया था और बिलासपुर में 47-48 डिग्री के आस पास तापमान दर्ज किया गया था, जो लू चलने का बड़ा कारण था.